Breaking News
.

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा, नरेंद्र मोदी ने अपने ऐलान से हमें चौका दिया ….

नई दिल्ली। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने फिलहाल आंदोलन जारी रखने की बात कहते हुए सरकार से बातचीत की मांग की है। राकेश टिकैत ने कहा कि हमारी जब सरकार से 11 राउंड की बातचीत हुई थी तो यह तय हुआ था कि एमएसपी और 3 कानून पर अलग से बात होगी। इसके बाद एक कमिटी बन जाएगी, जो सभी मसलों पर फैसले लेती रहेगी ताकि किसानों को आंदोलन न करना पड़े। उन्होंने कहा कि अब जब सरकार समाधान  की ओर बढ़ी ही है तो फिर वार्ता की टेबल पर आए और बात करे। नरेंद्र मोदी के अचानक संबोधन को लेकर राकेश टिकैत ने कहा कि हमें तीन बिलों की वापसी की उम्मीद नहीं थी।

राकेश टिकैत ने कहा कि हमें यह उम्मीद थी कि वे दो बिलों को वापस लेंगे और एमएसपी पर गारंटी कानून बनाएंगे। उन्होंने इस तरह से ऐलान कर चौंका दिया। राकेश टिकैत ने कहा कि इन्होंने दो बिल वापस लिए और एमएसपी पर कानून लेकर नहीं आए। हमारा यह कहना है कि जो भी किया है, वह ठीक है और आगे की बातचीत पर सरकार रास्ता खोले।

संसद सत्र में कानून वापस होने तक आंदोलन जारी रखने की बात पर राकेश टिकैत ने कहा, ‘हमारा कहना है कि बहुत से मसले हैं। इस पर सरकार को बात करनी चाहिए। एमएसपी बड़ा मुद्दा है। सरकार को कम दाम पर फसलें बेचते हैं और इसकी जिम्मेदारी सरकार की है। नरेंद्र मोदी ने तीन कानून वापस लिए हैं, इसके लिए धन्यवाद है।’

राकेश टिकैत ने सरकार से मांग की कि एमएसपी को लेकर कानून बनाएं और अन्य मसलों के लिए कमिटी बनाएं। हमारी 11 दौर की बात हुई और सरकार के प्रतिनिधि हमारी बात नहीं समझे। हमारा कहना था कि तीन कानूनों को वापस ले लो और अन्य मुद्दों पर बात करते रहेंगे।

बिलों की वापसी के बाद नरेंद्र मोदी के विरोध को लेकर निहत्था होने के सवाल पर राकेश टिकैत ने कहा कि नरेंद्र मोदी किसानों के लिए काम करे। वोट कोई किसी को भी देना चाहे, उसका कोई सवाल ही नहीं है। इसके साथ ही राकेश टिकैत ने कहा कि हम किसी को झुकाने या झुकने नहीं आए हैं। किसानों को लेकर कई मुद्दे हैं, जिन्हें हम उठाने आए हैं।

error: Content is protected !!