Breaking News
.

राज्यसभा उपचुनाव : केंद्रीय मंत्री एल मुरूगन ने नामांकन पत्र दाखिल किया…

भोपाल। मध्यप्रदेश से हाल ही में खाली हुई राज्यसभा की एक सीट के लिए बीजेपी उम्मीदवार केंद्रीय राज्य मंत्री एल मुरूगन ने मंगलवार को भोपाल में अपना नामांकन दाखिल कर दिया. कांग्रेस ने राज्यसभा सीट के लिए अपना उम्मीदवार नहीं उतारने का फैसला किया है. इसलिए मुरूगन का निर्विरोध चुना जाना लगभग तय है.

विधानसभा पहुंचे एल मुरुगन ने निर्वाचन अधिकारी और विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह के सामने नामांकन पत्र दाखिल किया. इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा, केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल, प्रदेश के मंत्री नरोत्तम मिश्रा, भूपेंद्र सिंह एवं इंदर सिंह परमार सहित कई नेता मौजूद थे.

 

सीएम बोले- मुझे भरोसा है मुरूगन प्रदेश के विकास में अहम भूमिका निभाएंगे

एल मुरूगन के राज्यसभा भेजे जाने पर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा संगठनात्मक दृष्टि से तमिलनाडु में बीजेपी संगठन के विस्तार में मुरूगन की महत्वपूर्ण भूमिका रही है. प्रदेश अध्यक्ष के नाते भी उन्होंने वहां काम किया है. मध्यप्रदेश का सौभाग्य है कि एक केंद्रीय मंत्री मिला. प्रदेश के केंद्रीय मंत्रिमंडल में जाने वाले चेहरों में इजाफा हुआ है. मुख्यमंत्री ने भरोसा जताया है कि मुरूगन प्रदेश के विकास और यहां की जनता के कल्याण में अहम भूमिका निभाएंगे.

 

सियासत भी गर्म, बीजेपी ने ली चुटकी

एल मुरूगन को राज्यसभा सांसद राज्यसभा भेजे जाने के मामले को लेकर सियासत भी गर्म है. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा ने मुरूगन के खिलाफ उम्मीदवार नहीं उतारने के कांग्रेस के फैसले पर निशाना साधा है. शर्मा ने कहा कांग्रेस को डर लग रहा है कि राज्यसभा में उम्मीदवार लड़ा दिया तो बाकी बचे विधायक भी इधर उधर ना हो जाएं. इस डर से कांग्रेस घबराई हुई है. कमलनाथ ने पूरे संगठन पर कब्जा किया हुआ है. उन्हें लगता है कि दूसरे चेहरे को चुनाव लड़वाएंगे तो कहीं ऐसा न हो कि वो तो हाइलाइट हो जाए. कांग्रेस डरी हुई है.

 

कांग्रेस बोली- बीजेपी डरी हुई है

मुरूगन के नामांकन दाखिल करने पर कांग्रेस ने बधाई दी है. पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा है कि मुरूगन राज्यसभा जाएंगे यह अच्छी बात है लेकिन मध्यप्रदेश के कोटे से जाने वाले मुरुगन को प्रदेश के विकास के लिए भी काम करना होगा. राज्यसभा सीट चुनाव के लिए उम्मीदवार नहीं उतारने पर उन्होंने कहा कि संख्या बल नहीं होने पर कांग्रेस ने उम्मीदवार नहीं उतारने का नया फैसला किया है. उन्होंने बीजेपी पर चुनाव से डरने का आरोप लगाया. मौजूदा हालातों में बीजेपी उपचुनाव और नगरी प्रशासन पंचायत के के चुनाव कराने से कतरा रही है.

error: Content is protected !!