Breaking News
.

गुजरातियों की प्रशंसा कर मराठियों को नीचा दिखाने के मामले में गवर्नर भगत सिंह पर भड़के राज ठाकरे, बोले- मानुषों को मूर्ख मत समझो …

मुंबई। मराठियों को नीचा दिखाने और गुजरातियों का महिमामंडन करने का मामला तूल पकड़ लिया है। गर्वनर द्वारा गुजरात के एक बड़े मंत्री को खुश करने के लिए दिया गया बयान उनके गले की हड़डी बन गया है। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने शनिवार को महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के उस भाषण पर निशाना साधा जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर महाराष्ट्र से गुजरातियों और राजस्थानियों को हटा दिया जाता है तो राज्य के पास कोई पैसा नहीं बचेगा और मुंबई को भारत की वित्तीय राजधानी नहीं कहा जाएगा। मराठी में एक पोस्ट शेयर करते हुए राज ठाकरे ने कैप्शन दिया है, “मराठी मानुष को मूर्ख मत बनाओ”। राज ठाकरे ने कहा, “यदि आप महाराष्ट्र के इतिहास के बारे में कुछ नहीं जानते हैं, तो इसके बारे में बात न करें।”

एमएनएस सुप्रीमो ने कहा, “राज्यपाल का पद बहुत सम्मानित पद है इसलिए लोग इसके खिलाफ कुछ नहीं कहेंगे, लेकिन आपके बयान से महाराष्ट्र की जनता आहत हुई है।”

उन्होंने राज्यपाल कोश्यारी से आगे सवाल करते हुए कहा, “राज्य में मराठी लोगों की वजह से नौकरी के अच्छे अवसर पैदा हुए। इसलिए दूसरे राज्यों के लोग यहां चले आए, है ना? क्या उन्हें ऐसा माहौल कहीं और मिलेगा?”

उन्होंने कहा, “चुनाव नजदीक है। ऐसे में किसी को भी अफवाह नहीं फैलानी चाहिए। यह मत समझो कि हम इस पर विश्वास करने के लिए निर्दोष हैं। ‘मराठी मानुष’ को मूर्ख मत बनाओ। मुझे अभी यही कहना है।”

राज्यपाल ने शुक्रवार को मुंबई के अंधेरी में एक चौक का नाम दिवंगत शांतिदेवी चम्पालालजी कोठारी के नाम पर रखने के लिए आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान यह बयान दिया। शिवसेना सांसद संजय राउत द्वारा शेयर किए गए एक वीडियो में बीएस कोश्यारी को यह कहते हुए सुना जा सकता है, “मैं लोगों को कभी-कभी कहता हूं कि अगर गुजरातियों और राजस्थानियों को महाराष्ट्र से हटा दिया जाता है, खासकर मुंबई और ठाणे से, तो आपके पास कोई पैसा नहीं बचेगा।”

राज्यपाल ने मारवाड़ी गुजराती समुदाय की भी प्रशंसा की और कहा कि वे जहां भी जाते हैं, वे अस्पताल, स्कूल और अन्य संस्थान बनाकर जगह के विकास में योगदान करते हैं।

संजय राउत, शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी और कांग्रेस नेता सचिन सावंत समेत कई नेताओं ने राज्यपाल के बयान की निंदा की है। राउत ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से राज्यपाल द्वारा दिए गए बयानों की निंदा करने का आग्रह किया। वहीं कांग्रेस के सचिन सावंत ने कहा कि महाराष्ट्र के राज्यपाल द्वारा मराठी लोगों का अपमान भयानक है।

error: Content is protected !!