Breaking News
.

आफत की बारिश: महाराष्ट्र में बाढ़-भूस्खलन से अब तक 164 की मौत, 100 लोग अभी भी लापता …

मुंबई। महाराष्ट्र में बाढ़ ने अब तक कुल 164 लोगों की जान ले लिया है। इसके अलावा 100 लोग अभी भी लापता हैं। भारी बारिश के कारण आई बाढ़ और भूस्खलन से प्रभावित लोगों को बचाने और उनके पुनर्वास के प्रयास भी जारी हैं। राहत और पुनर्वास विभाग ने सोमवार को बताया कि 1,028 प्रभावित गांवों में मरने वालों की संख्या 164 तक पहुंच गई है।

विभाग ने कहा, “बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से लगभग 2.29 लाख लोगों को निकाला गया है। कुल 164 मौतें हुई हैं और 25,564 जानवरों की मौत हुई है। आपदा में अब तक 56 लोगों के घायल होने की खबर है। 1028 प्रभावित गांवों के करीब 100 लोग अभी भी लापता हैं।” इसके अलावा, विभाग ने बताया कि वर्तमान में 259 आश्रयों में 7,832 लोगों का पुनर्वास किया गया है।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे आज सतारा जिले के पाटन तालुका के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करेंगे। मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) ने एक ट्वीट में बताया कि वह बाढ़ प्रभावित नागरिकों के लिए बनाए गए राहत शिविरों का भी दौरा करेंगे।

कोल्हापुर में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) के सहायक कमांडेंट विक्रम ने बताया कि जिले में 6 टीमों को तैनात किया गया है और कल 1,500 से अधिक लोगों को निकाला गया था। उन्होंने कहा, “हम नागरिक और जिला प्रशासन के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। जल स्तर 2 फीट कम हो गया है, लेकिन अभी भी खतरे के स्तर पर है।” जिले के शिरोली इलाके में बाढ़ के पानी में घर, सड़क और व्यावसायिक प्रतिष्ठान डूबे हुए देखे गए।

महिलाओं के लिए एक अलग राहत बल की आवश्यकता की ओर इशारा करते हुए, केडीआरएफ अधिकारी शुभांगी मधुकर घरारे ने कहा, “यह अच्छा है कि हम बाढ़ से लोगों को बचाने और स्थानांतरित करने में सक्षम हैं, खासकर लड़कियों और महिलाओं को। हमने बीमार पुरुषों और गर्भवती महिलाओं को बचाया है। एक महिला बचाव दल की जरूरत है क्योंकि हम छोटे बच्चों और माताओं को अधिक कुशलता से स्थानांतरित कर सकते हैं।”

error: Content is protected !!