Breaking News
.

बिहार में 12 बार वैक्सीन लेने वाले के घर रेड: पत्नी बोलीं- सेहत के बारे में सोचना जुर्म है क्या, जो अपराधियों सा सलूक हो रहा …

मधेपुरा । कोरोना वैक्सीन की 12 डोज लेने का दावा करने वाले 84 साल के बुजुर्ग ब्रह्मदेव मंडल के घर पुलिस ने सोमवार को छापा मारा, लेकिन वो घर में नहीं मिले। परिवार वालों का आरोप है कि पुलिस वाले दरवाजा तोड़कर घर में जबरन घुस गए।

ब्रह्मदेव मंडल की पत्नी निर्मला देवी ने बताया कि पुलिस के डर से मेरे पति और हम सब परेशान हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना का टीका लेने के बाद पति के स्वास्थ्य में काफी सुधार हुआ, जिसके कारण वो वैक्सीन लगवाते गए। पत्नी ने कहा कि अपने स्वास्थ्य के लिए सोचना कोई अपराध है। वो कोई अपराधी नहीं हैं फिर भी उनके साथ अपराधियों जैसा व्यवहार किया जा रहा है।

पड़ोसियों का कहना है कि जिस तरह से पुलिस रात में छापेमारी की है वह कहीं से भी सही नहीं है। वह कोई अपराधी नहीं है। एसपी राजेश कुमार ने बताया कि ब्रह्मदेव के खिलाफ धोखेबाजी, संपत्ति नष्ट करने और सरकारी आदेशों की अवहेलना का केस दर्ज किया गया है।

केस दर्ज होने के बाद ब्रह्मदेव मंडल ने कहा, ‘वैक्सीनेशन से मुझे फायदा हुआ है। इसलिए बार-बार वैक्सीन ली है। इसमें स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही है, जिसने बिना जांच के हमें 12 बार वैक्सीन दी। अपनी लापरवाही को छिपाने के लिए ही मेरे ऊपर FIR कराई गई है।’

13 फरवरी 2021 को पहला डोज पुरैनी PHC में, दूसरा डोज 13 मार्च को पुरैनी PHC, तीसरा 19 मई को औराय उप स्वास्थ्य केंद्र, चौथी वैक्सीन 16 जून को भूपेंद्र भगत के कोटे पर लगे कैंप में, पांचवां डोज 24 जुलाई को पुरैनी बड़ी हॉट स्कूल पर लगे कैंप में लगवाया, छठा 31 अगस्त को नाथबाबा स्थान कैंप में, सातवां 11 सितंबर को बड़ी हाट स्कूल पर ही, आठवां वैक्सीनेशन 22 सितंबर को बड़ी हाट स्कूल पर लिया। 9वां डोज 24 सितंबर को स्वास्थ्य उप केंद्र कलासन जाकर लिया गया। वैक्सीन का 12वां डोज मंगलवार को चौसा PHC में लिया।

error: Content is protected !!