Breaking News
.

राहुल की कांग्रेसियों को नसीहत- पदों से ज्यादा जनता पर फोकस करना होगा, हम उससे कट गए हैं …

उदयपुर। राजस्थान के उदयपुर में चल रहे कांग्रेस के चिंतन शिविर को आज राहुल गांधी ने संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कांग्रेसियों को नसीहत भी दी। राहुल गांधी ने कहाकि हमारा पूरा डिस्कशन इंटर्नल मामले में होता है। कौन सी पोस्ट किसे मिल रही है इस पर फोकस रहता है। आज के समय इंटर्नल फोकस से काम नहीं होगा। आज का फोकस एक्सटर्नल करना पड़ेगा। हमें जनता के बीच जाना पड़ेगा। यह हमें अपने लिए नहीं, बल्कि देश के लिए करना होगा।

इस दौरान राहुल गांधी ने कहाकि शिविर की चर्चा में कांग्रेस के लीडर को लेकर सभी लोगों ने चर्चा की है। इसमें मैं भी मौजूद था। में सभी जगह चर्चा में गया और सभी को सुना है। मैंने देखा है। मेरा सवाल है कि देश में ऐसी कौन सी पार्टी है जिसने इस तरह खुलकर चर्चा की है। राहुल ने कहाकि एक सीनियर लीडर ने बिना किसी हेजिटेशन के कहाकि आरएसएस और भाजपा का मुकाबला कैसे करना है। इस दौरान राहुल ने कहाकि हम हिंसा के विरोध में हैं। राहुल ने कहाकि देश में जो रोजगार देने वाली रीढ़ थी, उसे मोदी, भाजपा और उनकी विचारधारा ने तोड़ दी है।

राहुल गांधी ने कहाकि आज हिंदुस्तान के युवा को रोजगार नहीं मिल सकता है। नरेंद्र मोदी ने दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था। आज से ज्यादा बेरोजगारी पहले कभी नहीं रही है। क्योंकि रोजगार पैदा करने वाली जो रीढ़ की हड्डी है, उसको नरेंद्र मोदी व विचारधारा ने तोड़ दिया है। नोटबंदी, जीएसटी को लागू कर दो-तीन लोगों को फायदा पहुंचाया। युवाओं को बर्बाद कर दिया है। आने वाले समय में देश के युवा को रोजगार नहीं मिलेगा। यूक्रेन के युद्ध का भी असर पड़ने वाला है। हालात खतरनाक आपदा में पड़ने जा रहा है। इसके लिए भाजपा जिम्मेदार है। हमारी भी जिम्मेदारी है जो विचारधारा की लड़ाई को लड़ने की है और जनता के साथ खड़े होने की है।

इस दौरान राहुल गांधी ने कहाकि भाजपा में दलितों को लिए कोई जगह नहीं है। ऐसा नेताओं ने कहा है। उन्होंने कहाकि हम रीजनल पार्टी की इज्जत करते हैं। यह चर्चा कांग्रेस में नई नहीं थी। मीडिया कांग्रेस पार्टी पर लगातार अटैक करता है। हम लगातार चर्चा कर रहे हैं। कांग्रेस के डीएनए में है कि हम हर धर्म, हर जाति के लिए उपलब्ध हैं। हिंदू, मुस्लिम, सिक्ख इसाई, देश की हर जनता के बीच हैं और बातचीत कर रहे हैं। मैंने पार्लियामेंट में कहा था कि भारत यूनियन ऑफ स्टेट्स है। न कि नेशन है। मैं पूरी जिम्मेदारी से कह रहा हूं कि हम हिंसा के विरोध में है। हम देश के लोगों को हिंसा में नहीं झोंकेंगे।

राहुल गांधी ने कहाकि कांग्रेस पार्टी में महात्मा गांधी, पटेल, आजाद, अंबेडकर आदि महान नेताओं ने कांग्रेस को बनाया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक यूनियन है और हर नागिरक इसका सदस्य है। न्याय पालिका दबाव में है। इलेक्शन कमिशन, मीडिया सबलोग इस दौर में मजबूर है। सरकार किसी से बातचीत नहीं कर रहे हैं। हम लोगों से बातचीत कर रहे हैं। यह हम सबलोग देख रहे हैं। प्रेस पिपुल, राजनीतिज्ञ नहीं बोल पा रहे हैं। राजनीतिक चर्चा बंद हो गई है। सवाल हमारे सबके दिमाग में है। कैसे मुकाबला करें। आर्थिक हालात खराब हो गए हैं। दो दिन पहले एक्सपोर्ट को बैन कर दिया गया है। इसको किसानों पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। पंजाब के किसान परेशान हैं।

error: Content is protected !!