Breaking News
.

बोरवेल में फंसा राहुल साहू का अपोलो अस्पताल में इलाज पूरा, जांजगीर-चाम्पा के लिए हुआ रवाना ….

बिलासपुर। अपोलो अस्पताल से राहुल साहू का आज डिस्चार्ज कर दिया गया। वह अपने घर के बोरवेल में गिर जाने से तकरीबन पांच दिनों तक फंसा रहा। जिसे छत्तीसगढ़ के यशस्वी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा भारत का सबसे बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर सुरक्षित बाहर निकालने का भागीरथ प्रयास किया है। राहुल साहू को बेहतर उपचार के लिए बिलासपुर के अपोलो अस्पताल लाया गया था, जहां से उसे आज डिस्चार्ज कर दिया गया।

उपचार के बाद लगभग पूरी तरह स्वस्थ होने के बाद उन्होंने स्वागत के साथ राहुल को अपने जिले जांजगीर-चाम्पा के ग्राम पिहरीद के लिए रवाना हो गया। इस दौरान जांजगीर-चाम्पा जिले के पुलिस अधीक्षक विजय अग्रवाल भी मौके पर उपस्थित थे। कलेक्टर ने राहुल के परिजनों से भी बात की और कहा कि पूरा जिला प्रशासन आपके साथ है। राहुल के लिए किसी प्रकार की आवश्यकता होने पर हर सम्भव मदद की जाएगी। उन्होंने राहुल का बेहतर तरीके से देख रेख करने का भी आग्रह किया।

कलेक्टर ने राहुल साहू के बेहतर उपचार के लिए छत्तीसगढ़ के यशस्वी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा की गई व्यवस्था पर उनके प्रति धन्यवाद भी ज्ञापित किया है। इसके साथ ही जांजगीर-चाम्पा कलेक्टर ने अस्पताल प्रबंधन, बिलासपुर कमिश्नर, आईजी, कलेक्टर को भी राहुल के बेहतर उपचार और आवश्यक व्यवस्था के लिए धन्यवाद दिया है।

कलेक्टर ने राहुल को सकुशल गृह ग्राम ले जाने हेतु जिले के अधिकारियों को भी आवश्यक निर्देश दिए हैं। उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, चिकित्सकों को भी राहुल के स्वास्थ्य की जानकारी समय-समय पर लेने के निर्देश दिए हैं।

गौरतलब है कि ग्राम पिहरीद ब्लॉक मालखरौदा में 60 फीट नीचे बोरवेल में गिरकर फंसे होने के बाद लगभग 105 घण्टे बाद रेस्क्यु से बाहर आए राहुल का इलाज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देशन में अपोलो अस्पताल बिलासपुर में किया जा रहा था।

error: Content is protected !!