Breaking News
.

एसआईटी रिपोर्ट के बाद राहुल गांधी ने लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव किया पेश…

नई दिल्ली। यूपी के लखीमपुर खीरी में किसान हिंसा मामले में एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि किसानों को मारने के इरादे से उनपर गाड़ी चढ़ाई गई थी। इसको लेकर अब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव पेश किया है। बता दें कि इस मामले में कांग्रेसी की तरफ से सख्त तेवर दिखाते हुए केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा टेनी को बर्खास्त करने की मांग की गई है।

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 3 अक्टूबर को हुई यह घटना हादसा नहीं बल्कि किसानों को मारने के इरादे से उनपर गाड़ी चढ़ाई गई थी। इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा को मुख्य आरोपी बनाया गया है।

SIT की रिपोर्ट के बाद कांग्रेस सरकार पर हमलावर हुई है। लोकसभा में दिये नोटिस में राहुल गांधी ने सदन की कार्यवाही स्थगित करने की मांग की और कहा कि एसआईटी रिपोर्ट को लेकर सदन में चर्चा होनी चाहिए। उन्होंने मांग की कि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा को सरकार कैबिनेट से बाहर करे।

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि हमारे नेता राहुल गांधी ने लखीमपुर खीरी में हिंसा के मुद्दे पर संसद में स्थगन प्रस्ताव दिया है। उन्होंने कहा कि हम चाहेंगे कि सरकार मंत्री(अजय कुमार मिश्रा टेनी) को बर्खास्त करे। राहुल गांधी आज इस विषय पर सदन में बात रखने की कोशिश करेंगे।

वहीं इससे पहले राहुल गांधी ने एसआईटी की रिपोर्ट के आधार पर एक ट्वीट में लिखा था, “मोदी जी, फिर से माफ़ी मांगने का टाइम आ गया। लेकिन पहले अभियुक्त के पिता को मंत्री पद से हटाओ। सच सामने है!”

गौरतलब है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के पुत्र आशीष मिश्रा मोनू समेत उसके 13 साथियों पर लखीमपुर खीरी में तीन अक्टूबर को प्रदर्शन कर रहे किसानों को जीप से कुचलने का आरोप है। इस घटना में और इसके बाद भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी।

error: Content is protected !!