Breaking News
.

गहलोत कैबिनेट पर प्रियंका गांधी की छाप, पहली बार तीन महिलाओं को मिली एंट्री ….

जयपुर। राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार की नई कैबिनेट में प्रियंका गांधी की छाप देखने को मिल रही है। पहली बार राजस्थान सरकार की कैबिनेट में तीन महिला विधायकों को एंट्री दी गई है। इसके अलावा 4 दलित नेताओं को भी कैबिनेट मंत्री बनाया गया है, जो पंजाब में दलित नेता चरणजीत सिंह चन्नी को सीएम बनाए जाने के बाद बड़ा फैसला है।

माना जा रहा है कि कांग्रेस ने महिलाओं और दलितों को प्रतिनिधित्व देकर बड़ा संदेश देने का प्रयास किया है। दरअसल प्रियंका गांधी ने यूपी के विधानसभा चुनाव में महिलाओं को 40 फीसदी टिकट दिए जाने का ऐलान किया है। अब इसके बाद राजस्थान में 3 महिलाओं की एंट्री से माना जा रहा है कि इस कैबिनेट विस्तार में उनका दखल है।

यही नहीं खुद सीएम अशोक गहलोत के एक बयान से भी प्रियंका गांधी की भूमिका के बारे में समझा जा सकता है। कैबिनेट गठन को लेकर अशोक गहलोत ने कहा कि इस बारे में प्रियंका गांधी, सोनिया गांधी और राहुल गांधी ही जानते हैं।

अशोक गहलोत की ओर से प्रियंका गांधी का नाम सबसे पहले लिए जाने से साफ है कि उनका क्या रोल रहा है। बता दें कि सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच विवाद निपटाने में प्रियंका गांधी की अहम भूमिका रही है। पिछले दिनों दिल्ली में उन्होंने सचिन पायलट और अशोक गहलोत से अलग-अलग मुलाकातें की थीं।

गहलोत सरकार में ममता भूपेश ने कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली है। उनका प्रमोशन हो रहा है। अभी तक ममता गहलोत सरकार में बतौर महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री शामिल थीं। वह दौसा जिले की सिकराय विधानसभा सीट से एमएलए हैं। उनके अलावा जाहिदा खान 15 नए मंत्रियों में दूसरा महिला नाम हैं।

जाहिदा ने अंग्रेजी में शपथ ली। जाहिदा भरतपुर की कामा विधानसभा सीट से विधायक हैं। इससे पहले वह संसदीय सचिव रह चुकी हैं। जाहिदा यहां के बड़े नेता रहे तैयब हुसैन की बेटी हैं। शकुंतला रावत ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली।

शकुंतला रावत अलवर के बानसूर विधानसभा सीट से दो बार की विधायक हैं। वह महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष राष्ट्रीय महासचिव रह चुकी हैं। महिला चेहरे के तौर पर शकुंतला को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है।

error: Content is protected !!