Breaking News
.

पंजाब में नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जताई चिंता, मिलने पहुंचे ….

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से राष्ट्रपति भवन में मुलाकात की। इस दौरान राष्ट्रपति कोविंद ने नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे के समय उनके सुरक्षा बंदोबस्त में हुई चूक पर चिंता जताई। राष्ट्रपति भवन ने प्रधानमंत्री के साथ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मुलाकात के बारे में एक बयान में कहा, ‘राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज राष्ट्रपति भवन में नरेंद्र मोदी से कल पंजाब में उनके काफिले की सुरक्षा में हुई चूक पर सीधे उनसे जानकारी प्राप्त की।’ ट्विटर पर इस बयान में कहा गया है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस गंभीर चूक पर चिंता व्यक्त की।

इस बीच उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी नरेंद्र मोदी से बात की है। उन्होंने खुद ट्वीट करते हुए इसकी जानकारी दी। उपराष्ट्रपति के अकाउंट से ट्वीट किया गया, ‘उपराष्ट्रपति ने नरेंद्र मोदी से पंजाब में कल उनकी यात्रा के दौरान हुई सुरक्षा चूक को लेकर बात की। उन्होंने इस घटना को लेकर चिंता जताई। इसके साथ ही यह भी उम्मीद जताई कि कड़े कदम उठाए जाएंगे ताकि भविष्य में इस तरह की कोई घटना न हो सके।’ ‘

पीएम बुधवार को पंजाब के फिरोजपुर में एक रैली में जाने वाले थे। इस रैली में वह 42,750 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का ऐलान करने जा रहे थे, लेकिन उनका एक काफिला फ्लाईओवर पर 20 मिनट तक फंसा रहा। यह घटना किसानों के एक संगठन की ओर से प्रदर्शन के चलते हुई। मोदी के काफिले के फंसने को सुरक्षा में गंभीर चूक का मामला माना गया और इसे लेकर भाजपा ने कांग्रेस की पंजाब सरकार पर तीखा हमला बोला। इससे पहले गुरुवार को सुबह यह मामला सुप्रीम कोर्ट में भी पहुंच गया, जिस पर शुक्रवार को सुनवाई होने वाली है। इसके अलावा पंजाब सरकार की ओर से सुरक्षा में चूक की जांच के लिए एक हाईलेवल कमिटी के गठन का भी फैसला लिया गया है।

इस बीच सुरक्षा चूक की घटना की जांच के लिए बनी समिति के मुखिया ने भी मामले को गंभीर बताया है। पंजाब सरकार की ओर से गठित समिति के मुखिया जस्टिस मेहताब सिंह गिल ने कहा कि नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक का मामला बेहद गंभीर है। इस मामले पर विस्तार से बोलने से इनकार करते हुए मेहताब सिंह गिल ने कहा, ‘यह बेहद गंभीर मामला है। प्रथमदृष्ट्या ऐसा लगता है कि कहीं कुछ चूक हुई है। किसी की भी जिम्मेदारी तय करने से पहले हम इस चूके बारे में पता लगाने का प्रयास करेंगे।’ नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक के मामले की जांच के लिए पंजाब सरकार ने हाई लेवल कमिटी गठित की और तीन दिनों के अंदर रिपोर्ट देने का आदेश दिया है।

error: Content is protected !!