Breaking News
.

मौन जुलूस पर पुलिस ने बरसाए डंडे, बैरिकेड्स लांघ रहे कार्यकर्ताओं को वाटर कैनन और लाठी चलाकर खदेड़ा, विधायक समेत 10 को चोटें…

इंदौर. धार्मिक आयोजनों की परमिशन की मांग को लेकर इंदौर में मौन रैली निकाल रहे कांग्रेसियों पर पुलिस ने लाठियां बरसा दीं और वॉटर केनन छोड़ दी. लाठीचार्ज में कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला सहित कई कार्यकर्ता घायल हो गए. कांग्रेस नेताओं ने सद्बुद्धि के लिए अफसरों को गणेश प्रतिमा भेंट कीं.

इंदौर में आज कलेक्ट्रेट के आसपास ज़बरदस्त हंगामा कटा रहा. गणेश उत्सव सहित अन्य धार्मिक आयोजन की इजाजत देने की मांग के साथ कांग्रेस ने मार्च निकाला था. मार्च कलेक्ट्रेट के घेराव के लिए बढ़ रहा था. पुलिस ने उसे रोकने के लिए बल प्रयोग किया. शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं पर पहले पानी की तेज बौछार छोड़ दी गयी और फिर पुलिस ने लाठियां भांज दीं. इसमें कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला सहित 10 से ज्यादा कार्यकर्ता घायल हो गए.

प्रदर्शन में कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी और विजयलक्ष्मी साधौ भी शामिल थीं. प्रशासन को ज्ञापन देने गए नेताओं ने अधिकारियों को गणेश प्रतिमा गिफ्ट की. सुबह से ही अलग अलग विधानसभा क्षेत्र के कार्यकर्ता इकट्ठा होकर राजवाड़ा पहुंचना शुरू हो गए थे. वहां से सब पैदल कलेक्ट्रेट के लिए रवाना हुए. ये कार्यकर्ता काले कपड़े और काला मास्क पहने हुए थे और गणेशजी की प्रतिमा हाथ में लिए हुए थे. इस मौन रैली में कांग्रेस के पूर्व मंत्री जीतू पटवारी, विजयलक्ष्मी साधौ समेत विधायक और पूर्व विधायक शामिल थे. कलेक्ट्रेट पर पहुंच कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की औऱ बेरीकेड्स पर चढ़कर कलेक्ट्रेट में घुसने की कोशिश की. तब पुलिस ने बल प्रयोग कर दिया. हालांकि बाद में स्थिति शांत हो गई. बेरीकेड्स पर चढ़े नेताओं ने भाषण दिए.

यात्रा के प्रभारी सत्यनारायण पटेल ने कहा जब देश और प्रदेश में सभी के लिए समान कानून हैं तो फिर प्रशासन दो तरह का व्यवहार क्यों कर रहा है. एक तरफ बीजेपी की राजनैतिक रैलियों को अनुमति दी जा रही है. लेकिन दूसरे दलों के प्रदर्शन और धार्मिक आयोजनों पर रोक लगाई गई है. इसके विरोध में कांग्रेस ने मौन जूलूस निकालकर प्रशासन से मांग की है कि वो आगामी त्योहारों गोगा नवमी, गणेशोत्सव, जन्माष्टी पर निकलने वाले चल समारोहों की भी इजाजत दे. इसी का ज्ञापन प्रशासन को दिया गया है. साथ ही एडीएम पवन जैन और राजेश राठौर को गणेश प्रतिमा भी भेंट की गई है.

error: Content is protected !!