Breaking News
.

MP में पेट्रोल और डीजल का बढ़ा संकट, सप्लाई की कमी से सूख रहे पंप …

नई दिल्ली एमपी पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन ने कहा कि 4900 में से 1000 पेट्रोल पंप 40% तक ईंधन की आपूर्ति में कमी के कारण सूख गए हैं। ईंधन संकट की खबर के बीच बुधवार रात कई पेट्रोल पंपों पर भारी भीड़ देखी गई, इसके चलते पेट्रोल पंप मालिकों ने स्थानीय थाने से पुलिस कर्मियों को बुलाया। रायसेन चौक स्थित एक पेट्रोल पंप में बुधवार रात पुलिस सुरक्षा में पेट्रोल पंप दिया गया। पंप प्रबंधक राजेश कुमार ने कहा, ‘हमने पुलिस को बुलाया क्योंकि आपूर्ति की कमी के कारण एक दर्जन से अधिक पेट्रोल पंप बंद होने के बाद बड़ी संख्या में ग्राहक अपने टैंकों को फिर से भरने के लिए पहुंचे’

पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के सांसद अध्यक्ष अजय सिंह ने कहा कि हालात दिन पर दिन बद से बदतर होते जा रहे हैं। अगर सरकार ने तीन दिनों के भीतर कोई कार्रवाई नहीं की तो राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति पैदा हो जाएगी। सिंह ने कहा, ‘एक हजार पेट्रोल पंप सूखने की खबर के बाद पेट्रोल पंपों पर भारी भीड़ देखी गई। कुछ लोगों ने किसी भी अप्रिय घटना को टालने के लिए स्थानीय पुलिस को फोन किया।

उन्होंने आगे कहा, ‘इंडियन ऑयल की आपूर्ति ठीक है, लेकिन हिंदुस्तान और भारत पेट्रोलियम ने आपूर्ति को 40% तक कम कर दिया। यहां तक ​​कि भौंरी क्षेत्र स्थित डिपो ने भी भरने का समय दो घंटे कम कर दिया है। पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के मुताबिक राज्य में रोजाना 27.70 लाख लीटर पेट्रोल-डीजल की खपत होती है, लेकिन कंपनियां 1.5 करोड़ लीटर से भी कम ईंधन दे रही हैं। एसोसिएशन के अनुसार, संकट के पीछे कई कारण हैं।

सिंह ने कहा, ‘मध्य प्रदेश में सोयाबीन की बुवाई के मौसम और चावल और पंचायत चुनावों के कारण मांग 20-25% तक बढ़ जाती है। सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयां मांग से 40% कम ईंधन की आपूर्ति कर रही हैं। सिंह ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क कम करने के बाद तेल कंपनियों ने आपूर्ति कम कर दी है। डीलर्स एसोसिएशन ने राज्य सरकार को पत्र लिखकर स्थिति बिगड़ने से पहले इस मामले पर कार्रवाई करने को कहा है।

एमपी के पुलिस महानिरीक्षक (कानून-व्यवस्था) फरीद शापू ने कहा, ‘अभी तक कोई समस्या नहीं है लेकिन हमने सभी जिलों से स्थिति पर नजर रखने को कहा है।’ मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा, ‘भाजपा सरकार की आदत हो गई है कि वह प्रदेश की आम जनता को रोज नई मुसीबतों में डालती है। अब पेट्रोल पंपों पर तेल की आपूर्ति की समस्या पैदा हो गई है। लोग पेट्रोल-डीजल की किल्लत से जूझ रहे हैं। आगे स्थिति और खराब होने की आशंका है।”

error: Content is protected !!