Breaking News
.

केंद्र शासित प्रदेश दिल्ली में रेप पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे सीएम केजरीवाल का लोगों ने जमकर किया विरोध, मंच से गिरे …

नई दिल्ली । केंद्र शासित प्रदेश दिल्ली में 9 साल की दलित बच्ची के साथ रेप के बाद परिजन की बिना सहमित के रात के अंधेरे में कब्रिस्तान ले जाकर शव का अंतिम संस्कार करने का मामला गर्माता जा रहा है। इस मामले में मुख्य विपक्ष सहित दलित संगठन भी एक मंच पर आ रहे हैं। इसके मद्देनजर सरकार सतर्क हो गई है। वहीं दलित लड़कियों के साथ देशभर में हो रहे उत्पीड़न को लेकर लोगों में भारी आक्रोश है। दिल्ली कैंट इलाके में 9 साल की मासूम के कथित रेप और हत्या का मामला गर्माता जा रहा है। पीड़ित परिवार दोषियों को फांसी देने की मांग कर रहा है। कई नेता पीड़ित परिवार से मिल रहे हैं। इसी बीच बुधवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जब परिवार से मिलने के लिए पहुंचे तो उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा।

कुछ लोगों ने सीएम केजरीवाल का विरोध किया। हालांकि बाद में सीएम मंच पर पहुंचे लेकिन धक्का मुक्की और विरोध के चलते वे मंच से गिर गए। उन्हें सुरक्षाकर्मियों ने संभाला। इस दौरान लोगों ने नारेबाजी भी की। इसके बाद सीएम गाड़ी में बैठकर वहां से रवाना हो गए। इसके अलावा दिल्ली सरकार ने पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपए आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है।

दरअसल, केजरीवाल बुधवार को पीड़ित परिवार से मिलने के लिए पहुंचे थे। मुलाकात के बाद जब वे मंच पर चढ़े तो वहां भीड़ होने के कारण उन्हें धक्का-मुक्की का सामना करना पड़ा और वे वापस चले गए।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल बुधवार को बच्ची के परिजनों से मुलाकात करने पहुंचे और मदद का ऐलान किया। परिजनों से मीटिंग के बाद अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘मैंने जघन्य अपराध की शिकार हुई बच्ची के परिजनों से मुलाकात की है। उसके जाने की भरपाई नहीं की जा सकती है, लेकिन दिल्ली सरकार ने बच्ची के परिजनों को 10 लाख की राहत राशि देने का ऐलान किया है। इसके अलावा मजिस्ट्रेट जांच का आदेश दिया है। यही नहीं दिल्ली सरकार की ओर से टॉप वकीलों की नियुक्ति की जाएगी ताकि जल्दी से जल्दी अपराधियों को उनके अंजाम तक पहुंचाया जा सके।’

error: Content is protected !!