Breaking News
.

15 साल से भारत में रह रहा पाक आतंकी गिरफ्तार, यमुना की रेत में छुपाकर रखे थे हथियार, भारतीय लड़की से की शादी …

नई दिल्ली। दिल्ली में आतंकी हमले की बड़ी साजिश रच रहे एक पाकिस्तानी आतंकी को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है। उसकी पहचान मोहम्मद अशरफ उर्फ अली के रूप में की गई है। वह पाकिस्तान के पंजाब का रहने वाला है और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर काम कर रहा था। पुलिस ने इसकी निशानदेही पर एक AK-47 राइफल, 60 कारतूस, एक हैंड ग्रेनेड, 2 पिस्टल और उसके 50 कारतूस और रुपये बरामद किए हैं। यह हथियार और कैश उसने यमुना नदी में कालिंदी कुंज घाट पर रेत के नीचे छुपाकर रखे हुए थे।

दिल्ली पुलिस सूत्रों के मुताबिक, ये पाकिस्तानी आतंकी पिछले 15 साल से दिल्ली में रह रहा था और इसने एक भारतीय लड़की से शादी भी कर ली थी। फिलहाल अपनी पत्नी से अलग रह रहा था। वह दिल्ली के स्लीपर सेल का मुखिया था और भारत आने वाले आतंकियों को हथियार और लॉजिस्टिक सपोर्ट मुहैया करवाता था। दिल्ली में इसके नेटवर्क में और भी लोग हैं। वह लोन वुल्फ अटैक की साजिश रच रहा था। पुलिस का मानना है कि जल्द ही कई और गिरफ्तारियां हो सकती हैं।

पुलिस की पूछताछ के दौरान उसने पहले तो शादी करने की बात से इनकार किया और बाद में दावा किया कि वह एक महिला के साथ रहता था और फिर उससे अलग हो गया। पुलिस द्वारा उसके दावों की पुष्टि की जा रही है। पुलिस यह भी जानने की कोशिश कर रही कि हाल के दिनों में ये किससे मिला और इसे हथियार कहां से मिले थे। इसके साथ ही उसके दोनों मोबाइल फोन की कॉल डिटेल्स भी निकली जा रही हैं। मोबाइल की जांच के दौरान से पाकिस्तान से कई ऑनलाइन कॉल की जानकारी भी मिली है। बता दें कि, राजधानी ने आखिरी आतंकी हमला 2011 में दिल्ली हाईकोर्ट के पास हुआ था, जो एक बम विस्फोट था।

ये आतंकी भारत के कई अलग-अलग राज्यों जैसे- जम्मू-कश्मीर, पंजाब राजस्थान, यूपी, बेस्ट बंगाल में भी रह चुका है और अब वह दिल्ली में रह रहा था। इसके साथ ही कई बड़ी आतंकी घटनाओं में इसकी भूमिका की जानकारी सामने आई है।

फिलहाल स्पेशल सेल की टीम आतंकी से पूछताछ कर रही है। पुलिस का मानना है कि त्योहारों के सीजन में वह किसी बड़े हमले की साजिश रच रहा था। पुलिस टीम यह जानने की कोशिश कर रही है कि भारत में कौन-कौन लोग उसकी मदद कर रहे थे। किस तरीके से नेपाल के रास्ते वह भारत पहुंचा और इस पूरे साजिश में कौन उसके मददगार हैं।

दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना की निगरानी में इस पूरे ऑपरेशन को अंजाम दिया गया है। बता दें कि आतंकी हमले को लेकर राजधानी में हाई अलर्ट है। कुछ दिन पहले दिल्ली पुलिस को ऐसे इनपुट मिले थे कि राजधानी में आतंकी हमला हो सकता है। इसको लेकर पुलिस कमिश्नर ने सभी जिला पुलिसकर्मियों, स्पेशल सेल व क्राइम ब्रांच को अलर्ट रहने के निर्देश दिए थे। इसे लेकर पुलिस टीमें लगातार काम कर रही थीं और उन्होंने एक गुप्त सूचना पर संदिग्ध आतंकी को पकड़ा है। जांच में पता चला है कि आतंकी नेपाल के रास्ते दिल्ली में आया था। पुलिस का शक है कि वह त्योहारों के मौसम में किसी बड़े हमले को अंजाम देने की साजिश रच रहा था।

स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने बताया कि गिरफ्तार किया गया मोहम्मद अशरफ उर्फ अली पाकिस्तान के पंजाब का रहने वाला है। उसे लक्ष्मीनगर इलाके के रमेश पार्क के पास से सोमवार रात को गिरफ्तार किया गया है। इसे लेकर पुलिस टीम ने बीते आठ अक्टूबर को साजिश का एक मामला दर्ज किया था।पुलिस को छानबीन के दौरान पता चला है कि वह फर्जी आईडी पर रह रहा था। उसने अली अहमद नूरी के नाम से शास्त्री नगर का एक फर्जी आईडी कार्ड बनवा लिया था। उसके पास से पुलिस ने फर्जी आईडी, बैग और दो मोबाइल फोन बरामद किए हैं। उसके पास से एक एके-47, मैगजीन और 60 गोलियां भी बरामद हुई हैं। एक हैंड ग्रेनेड, दो पिस्तौल और 50 कारतूस भी उसकी निशानदेही पर कालिंदी कुंज घाट से बरामद हुए हैं। तुर्कमान गेट इलाके से एक भारतीय पासपोर्ट भी उसने बरामद करवाया है।

error: Content is protected !!