Breaking News
.

समर्थन मूल्य पर धान खरीदी 1 दिसम्बर से 31 जनवरी तक, मक्का खरीदी होगी 1 दिसम्बर से 31 मई 2022 तक ….

रायपुर । शासन द्वारा दिए गए निर्देशानुसार खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 के तहत जिले के 89 धान उपार्जन केन्द्रों में आगामी एक दिसम्बर से धान/मक्का की खरीदी समर्थन मूल्य पर की जाएगी। गौरतलब है कि धान खरीदी 31 जनवरी 2022 और मक्का खरीदी 31 मई 2022 तक की जाएगी। इसके मद्देनजर कलेक्टर पी.एस.एल्मा ने खरीदी केन्द्रों में सही गुणवत्ता, पर्यवेक्षण, निगरानी और वास्तविक किसानों के धान/मक्का खरीदी सुनिश्चित करने के लिए समिति गठित किया है।

इसमें समिति का अध्यक्ष, प्राधिकृत अधिकारी, संबंधित क्षेत्र के सरपंच और कलेक्टर द्वारा नामांकित एक प्रतिनिधि को शामिल किया गया है। यह आदेश धान खरीदी की अंतिम तिथि 31 जनवरी 2022 तक तथा मक्का खरीदी की अंतिम तिथि 31 मई तक प्रभावशील रहेगा।

कलेक्टर ने खरीदी केन्द्र पर गठित समिति को निर्देशित किया है कि वह भारत सरकार द्वारा निर्धारित औसत अच्छी गुणवत्ता (एफ.ए.क्यू.) का धान वास्तविक किसानों से क्रय करे। साथ ही निगरानी समिति के प्रत्येक सदस्य प्रतिदिन नियमित रूप से खरीदी केन्द्र में उपस्थित रहकर खरीदी कार्य संपादित करें।

खरीदे गए धान का तौल सही किया जा रहा है एवं कांटा-बांट सत्यापित किया गया है अथवा नहीं इसका ध्यान भी समिति रखेगी। इसके अलावा खरीदी केन्द्र में हर दिन आर्द्रतामापी यंत्र से किसानों द्वारा लाए गए धान की आर्द्रता जरूर मापी जाए, जो 17 प्रतिशत से कम ना हो। साथ ही धान खरीदी केन्द्रों में कानून व्यवस्था की स्थिति एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने में भी मदद की जाए।

किसानों/कोचियों एवं बिचौलियों द्वारा गलत तरीके से खरीदी केन्द्रों में धान की बिक्री ना की जाए, इसका विशेष ध्यान निगरानी समिति रखेगी। यदि कोई किसान/कोचियां एवं बिचौलियों द्वारा ऐसा करने का प्रयास किया जाता है, तो तत्काल प्रकरण पंजीबद्ध कर प्रतिवेदन उप पंजीयक सहकारी समिति कार्यालय में प्रस्तुत किया जाएगा। खाली बारदानों की आवश्यकता तथा भरे बारदानों की संख्या, जिसका उठाव किया जाना इत्यादि की जानकारी कंट्रोल रूम में दी जाएगी।

इसके लिए जिला विपणन अधिकारी से संबंधित टेलीफोन नंबर धमतरी का 957722-232808 उपलब्ध है। इसी तरह कुरूद स्थित चोवा चन्द्राकर के मोबाइल नंबर 97541-76880 और नगरी स्थित लीलाशंकर के मोबाइल नंबर 94242-69252 पर जानकारी दी जा सकती है। इसके अलावा धान उपार्जन से संबंधित समस्या के निराकरण के लिए उप पंजीयक, जिला विपणन अधिकारी, नोडल अधिकारी, शाखा प्रबंधक जिला सहकारी केन्द्र बैंक के फोन नंबर पर भी सम्पर्क किया जा सकता है।

error: Content is protected !!