Breaking News
.

ओवैसी ने बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमले का किया भारी विरोध, ममता बनर्जी को दी यह नसीहत …

नई दिल्ली । पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की वापसी के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के दफ्तरों और कार्यकर्ताओं पर हमले हो रहे हैं। ओवैसी ने कहा, ”जीवन का अधिकार मौलिक अधिकार है। किसी भी सरकार का पहला कर्तव्य लोगों की जिंदगी बचाना है। यदि वे ऐसा नहीं करते हैं, वे अपने मौलिक कर्तव्य में विफल हैं। देश के किसी भी हिस्से में, लोगों की जिंदगी बचाने में किसी भी सरकार की असफलता की हम निंदा करते हैं।”

बीजेपी का कहना है कि मतगणना के बाद उसके कम से कम 9 कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई है। उनके घरों और दुकानों में लूटपाट की जा रही है तो आगजनी और तोड़फोड़ की भी कई घटनाएं हुई हैं। इस बीच, ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने हिंसक घटनाओं की निंदा करते हुए ममता बनर्जी को नसीहत दी है कि लोगों की जिंदगी बचाना उनका पहला कर्तव्य है।

इस बीच, पीएम नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को फोन करके कानून-व्यवस्था की स्थिति को लेकर चिंता जाहिर की है। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा दो दिन के बंगाल दौरे पर पहुंचे हैं। वह हिंसा में मारे गए बीजेपी कार्यकर्ताओं के घर जाएंगे। राज्य में तीसरी बार बहुमत हासिल करने वालीं ममता बनर्जी बुधवार को शपथ ग्रहण करने जा रही हैं।

error: Content is protected !!