Breaking News
.

पीएम मोदी की तारीफ करने पर यूनिवर्सिटी ने पीएचडी के छात्र से डिग्री मांगी वापस…

अलीगढ़। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के एक छात्र ने आरोप लगाया है कि पीएम मोदी के भाषण की तारीफ करने पर उससे उसकी पीएचडी की डिग्री वापस मांगी जा रही है। छात्र का आरोप है कि उसे वास्तविक डिग्री के बजाए एक सामान्य विषय की डिग्री दी जा रही है। दूसरी तरफ विश्वविद्यालय का कहना है कि उसे मानवीय चूक से गलत डिग्री पहले दे दी गई थी, लेकिन अब उसे करेक्ट करके नई डिग्री दी जा रही है। छात्र इसके खिलाफ हाईकोर्ट में दस्तक देकर न्याय की गुहार लगाई है।

छात्र का नाम डॉ. दानिश रहीम है और उसके मुताबिक उसने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से डिपार्टमेंट ऑफ लिंग्विस्टिक्स से पीएचडी की है। उसे यह डिग्री 9 मार्च 2021 को एवार्ड की गई थी। उसने कहा कि उससे पहले उसके साथी डॉ. मारिया नईम को नवंबर 2020 को यह डिग्री एवार्ड की गई थी। डिग्री एवार्ड होने के छह महीने बाद 4 अगस्त 2021 को उसे एक लेटर मिला, जिसमें बताया गया है कि आपको जो डिग्री दी गई है, वह गलत और अंजाने में दी गई है। आप लिंग्विस्टिक की डिग्री जमा करके लैंगुएज ऑफ मार्केटिंग एंड एडवरटाइजिंग (LAM) की डिग्री ले लें।

दानिश ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि “यह सुनकर मैं परेशान हो गया, आश्चर्यचकित रह गया। फिर मैंने पांच-छह महीने पीछे गया और यह सोचा कि ऐसा हुआ क्यों तो इस नतीजे पर पहुंचा हूं कि यूनिवर्सिटी के 100 साला प्रोग्राम में पीएम और वीसी की तारीफ करने की उसे अब सजा मिल रही है।”

उसने बताया कि “मेरे वाइवा यानी 8 फरवरी से दो-तीन दिन पहले मेरे चेयरमैन ने मुझे बुलाया था और कहा था कि आप एक स्टूडेंट है और आपको किसी पोलिटिकल पार्टी के फेवर और एगेंस्ट में नहीं बोलना चाहिए। आपने जो इलेक्ट्रानिक मीडिया को एक इंटरव्यू दिया था, उससे आपके हावभाव से पता चलता है कि आप राइट विंग के आदमी हैं।”

दानिश का कहना है कि यह सुनकर वह खामोश हो गया। उसके बाद उसका वाइवा हुआ। डिग्री एवार्ड हो गई। उसके बाद चार अगस्त को एक लेटर मिला, तो वह परेशान हो गए।

उन्होंने कहा, “मैंने लेटर का जवाब एएमयू को दिया। मेरे साथी ने भी जवाब दिया। मेरी एएमयू में कोई सुनवाई नहीं हुई, मजबूर होकर मैंने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है।” कहा कि “मैंने देश के पीएम, सीएम और हायर अथारिटी को भी पत्र लिखा और उनसे निवेदन किया है कि मेरी जिंदगी से न खेलें। मुझे जो डिग्री ईमानदारी से मिल चुकी है, उसे न लें और कोई ऐसी वैसी डिग्री न दें, जो वैलिड न हो। और एएमयू में जो लोग मेरे खिलाफ साजिश कर रहे हैं, उन पर कार्रवाई हो।”

error: Content is protected !!