Breaking News
.

तेल का खेल: तीन दुकानों पर पुलिस की रेड, नकली ऑयल मंगाकर घर में बनाते थे ब्रांडेड तेल,  6 लाख 80 हजार की सामग्री जब्त…

कटनी/भोपाल। प्रदेश में नकली लुब्रिकेंट इंजन ऑयल से ब्रांडेड बनाने का खेल लंबे समय से चल रहा है। अंतत: अरसे बाद तेल के खेल के आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ ही गए। सूचना मिलने पर कटनी पुलिस ने तीन दुकानों पर छापा मारकर 6.80 लाख रुपए का नकली ऑयल और ग्रीस जब्त की है।

दरअसल, एसपी मयंक अवस्थी को यह सूचना मिली थी कि मुख्यालय में कई जगहों पर नकली ऑयल बनाने का गोरखधंधा फल-फूल रहा है। इसके बाद स्पेशल टीम गठित कर उन्होंने जांच करने के लिए भेजा। पुलिस टीम ने शुक्रवार रात दो बजे तक एक-एक करके तीन दुकानों पर छापा मारा, जहां से नकली ऑयल, ग्रीस और सामग्री जब्त की है। पुलिस ने चंद्रा ऑटोमोबाइल के संचालक पुरुषोत्तम गुरुनानी और जालपा वार्ड स्थित राजलक्ष्मी ट्रेडर्स के तनवीर मनवानी को आरोपी बनाया है।

इस संबंध में पुलिस को सूचना मिली थी कि नकली ऑयल बनाने वाला गिरोह शुक्रवार देर शाम दुकान में तैयार ब्रांडेड कंपनी के ऑयल को सप्लाई करने वाला है। जिसके बाद चाण्डक चौक स्थित एक ऑटो मोबाइल के सामने टीम ने दबिश दी। यहां पर पुरुषोत्तम गुरुनानी ऑयल के कार्टून के साथ मिला। इसके पास किसी तरह के दस्तावेज नहीं थे। पूछताछ में व्यापारियों ने बताया कि वह जालपा वार्ड स्थित राजलक्ष्मी ट्रेडर्स से ऑयल का काटूर्न खरीदकार लाया है। पुरुषोत्तम गुरुनानी की दुकान से अलग-अलग कंपनियों के डिब्बे में बंद ऑयल जब्त किया। जब्त ऑयल की कीमत 76 हजार 500 रुपए बताई जा रही है। इसी तरह से जालपा वार्ड स्थित राजलक्ष्मी ट्रेडर्स से पुलिस ने लेबल लगे और बगैर लेबल के डिब्बों में भरा आयल जब्त किया। जिसकी कीमत 5 लाख 22 हजार रुपये बताई जा रही है।

नकली ऑयल का कारोबार करने के लिए आरोपी तनवीर मनमानी ने माधवनगर स्थित घर में ही अवैध फैक्ट्री खोल रखी थी। घर की तलाशी ली गई थी तो यहां पर फैक्ट्री का भण्डाफोड़ हुआ। अलग-अलग कंपनियों के ऑयल, ग्रीस के डिब्बे, ब्रांडेड कंपनी के रैपर, 200 लीटर के सात ड्रम। इसमें तीन ड्रमों में ऑयल भरा हुआ था। पुलिस को यहां से तेल निकालने की मशीन, फनल और मापक लीटर भी मिला। पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस का बताया कि वे इन्दौर के पीथमपुर की नाकौड़ा इण्डस्ट्रीज से मंगाते थे। कंपनियों के रैपर यहीं पर स्थानीय प्रेस से तैयार कराते थे। आरोपियों के विरुद्ध धारा 102 के तहत मामला कायम किया गया है।

error: Content is protected !!