Breaking News
.

बड़ा बाजार लाइब्रेरी में कवियों द्वारा नव वर्ष अभिनंदन, आजादी के अमृत महोत्सव कड़ी में आयोजित हुई काव्य गोष्ठी …

कोलकाता। पूर्वोत्तर भारत की प्राचीनतम लाइब्रेरी बड़ा बाजार लाइब्रेरी में कवियों के द्वारा नववर्ष का अभिनंदन किया गया।आजादी के अमृत महोत्सव कड़ी में इस काव्य गोष्ठी का आयोजन आचार्य विष्णुकांत शास्त्री सभागार में रखा प्रख्यात कवि- गीतकार डॉ बुद्धिनाथ मिश्र की अध्यक्षता में हुआ।

संयोजक डॉ गिरधर रॉय ने सभी का स्वागत किया।लाइब्रेरी की तरफ से राम पुकार सिंह और रमाकांत सिन्हा व सखी बहिनया संस्था की तरफ से हिमाद्रि मिश्रा और सुनीता झा ने अंग वस्त्र व पाग भेंट कर डॉक्टर मिश्र का सम्मान किया।

बुद्धिनाथ मिश्र ने प्रसिद्ध गीत “एक बार और जाल फेंक दे मचेरे” की बेहतरीन प्रस्तुति के साथ कुछ मुक्तक और कुछ और गीतों को सुनाया गोष्ठी में कोलकाता के अनेकानेक कवि ने बढ़ चढ़कर भाग लिया।इस अवसर पर अजय सिंह, अल्पना सिंह, नंद बिहारी, मोहन तिवारी, विवेक तिवारी, आलोक चौधरी, देवेश तिवारी मिश्रा,  साहब, हिमाद्री मिश्रा, रीमा पांडे, श्यामा सिंह, रमाकांत सिन्हा, नंदलाल रोशन, डॉक्टर गिरिधर रॉय, मोहन तिवारी, विवेक तिवारी और अनिल उपाध्याय सहित अनेक गणमान्य कवियों की उपस्थिति थे।

अरुण प्रकाश मलावत ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

error: Content is protected !!