Breaking News
.

देश में कोरोना वायरस के नए-नए वैरिएंट आते रहेंगे, इनसे घबराने की जरूरत नहीं : डॉ. एनके अरोड़ा

नई दिल्ली। देश में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस महामारी से केवल 2 राज्यों केरल और दिल्ली में कुल 6 लोगों की मौत हुई है। साथ ही नए संक्रमितों का दैनिक आंकड़ा भी एक हजार से नीचे 861 पर रह गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने रविवार को बताया कि आज सुबह सात बजे तक 185 करोड़ 74 लाख 18 हजार 827 कोविड टीके दिए जा चुके हैं।

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट आते रहेंगे। हालांकि, ये गंभीर बीमारियों का कारण नहीं बन रहे हैं और पीड़ितों की संख्या में वृद्धि नहीं हो रही है। ऐसे में घबराने की जरूरत नहीं है। भारत के COVID-19 वर्किंग ग्रुप के अध्यक्ष डॉ एनके ने यह जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि नए वैरिएंट्स से संक्रमितों या उनके संपर्क में आने वालों की हालत गंभीर नहीं हो रही है। इस बातों को हमें ध्यान में रखना चाहिए।

महाराष्ट्र और गुजरात में रिपोर्ट किए गए XE वैरिएंट के मामलों पर डॉ अरोड़ा ने कहा, “फिलहाल भारत में XE की मौजूदगी को लेकर केवल फर्स्ट लेयर टेस्टिंग ही हुई है। ऐसे में अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि यह XE वैरिएंट है या फिर XM या XJ है। मौजूदा समय में केवल एक टेस्ट के जरिए कोरोना के नए वैरिएंट्स की पहचान कर पाना मुश्किल हो रहा है।

डॉ अरोड़ा ने बताया कि परीक्षण की तीन परतों की आवश्यकता है और INSACOG इसकी बारीकी से निगरानी कर रहा है। उन्होंने कहा, “भारत में क्या हो रहा है, इस पर गौर करना होगा। गुजरात या महाराष्ट्र… जहां पर पहले टेस्ट में XE वैरिएंट होने की बात कही गई है, वहां पर इसके फैलने की रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है। अगर ओमिक्रॉन के नए वैरिएंट की पुष्टि हो जाती है तो इसके संक्रमण की रफ्तार पर नजर रखी जाएगी।”

error: Content is protected !!