Breaking News
.

गैंगरेप के बाद हत्या, उत्तर प्रदेश के बाद अब पश्चिम बंगाल में भी जबरन कराया गया अंतिम संस्कार, नहीं होने दिया पोस्टमार्टम …

कोलकाता। नाबालिग लड़की का रेप के बाद हत्या व दबाव पूर्वक अंतिम संस्कार करने का मामला पश्चिम बंगाल में भी सामने आया है। यहां एक बाहुबली नेता के बेटे के बर्थ-डे पार्टी में शामिल होने गई किशोरी की गैंगरेप के बाद मौत हो गई। शव का पोस्टमार्टम कराए बिना अंतिम संस्कार कर दिया गया है। ज्ञात हो कि उत्तर प्रदेश में भी एक नाबालिग के साथ गैंगरेप करने, कमर व गले की हड्‌डी तोड़ने के बाद रात के अंधेरे में उसका गुपचुप तरीके से अंतिम संस्कार कर दिया गया था।

पश्चिम बंगाल के नदिया जिले में एक नाबालिग की गैंगरेप के बाद मौत हो गई। पुलिस के मुताबिक आरोप है कि हंसखाली नाम की जगह पर एक बर्थडे पार्टी के दौरान नाबालिग के साथ गैंगरेप किया गया। पीड़िता के परिवार का आरोप है कि मुख्य आरोपी एक पंचायत सदस्य का बेटा है। पुलिस के मुताबिक मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पीड़िता कक्षा 9 में पढ़ती थी। उसके माता पिता ने घटना के 4 दिन बाद हंसखाली थाने में जाकर शिकायत दर्ज करवाई। इस मामले में मुख्य आरोपी बृजगोपाल उर्फ सोहैल गयाली को पहले हिरासत में लिया गया और फिर कल रात गिरफ्तार कर लिया गया। उसपर पॉक्सो ऐक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

इस मामले में कानूनी दखल के लिए कलकत्ता हाईकोर्ट में पीआईएल भी दाखिल की गई हैं। जानकारी के मुताबिक हाईकोर्ट में मंगलवार को सुनवाई हो सकती है। शिकायत के मुताबिक पीड़िता आरोपी के घर उसके बर्थडे पार्टी में शामिल होने गई थी। वह जब घर लौटी तो उसकी हालत बिगड़ी हुई थी और थोड़ी ही देर बाद उसकी मौत हो गई।

पीड़िता की मां ने बताया कि जब स्थानीय टीएमसी नेता के घर से उनकी बेटी वापस आई तो उसे खून बह रहा था और पेट में दर्द था। उसे अस्पातल लेकर जाते उससे पहले ही मौत हो गई। उन्होंने कहा कि पार्टी मैं मौजूद लोगों से मिली जानकारी के बाद मुझे पक्का पता है कि आरोपी और उसके दोस्तों ने उसके साथ गैंगरेप किया।

उन्होंने आरोप लगाया कि पीड़िता का डेथ सर्टिफिकेट मिलने से पहले ही अंतिम संस्कार का दबाव बनाया गया। परिवार का कहना है कि कुछ लोगों ने उन्हें पहले ही धमकी दी थी की बेटी का इलाज पास की क्लीनिक में ही करवाएं। उसे लेकर किसी प्राइवेट या सरकारी अस्पताल न जाएं।

बताया जा रहा है कि बाहुबली समरेंद्र गयाली का बेटा बृजगोपाल पीड़िता की ओर आकर्षित था और उसने अपनी बर्थडे  पार्टी में उसे बुलाया था। पीड़िता के परिवार ने शुरू में बताया कि उनकी बेटी की तबीयत पार्टी के दौरान ही बिगड़ गई थी और इसके बाद उसे लेकर लोकल क्लीनिक में गए।

रानाघाट में जूडिशल मजिस्ट्रेट के सामने भी पीड़िता के परिवार, क्वैक डॉक्टर और श्मशान के अटेंडेंट के बयान दर्ज किए गए। डॉक्टर ने कहा कि उन्होंने उसे पेनकिलर दिया था लेकिन कोई डेथ सर्टिफिकेट जारी नहीं किया। वहीं श्मशान कर्मी ने कहा कि जब पीड़िता का अंतिम संस्कार हुआ तो वह वहां मौजूद नहीं था।

error: Content is protected !!