Breaking News

सरकार पर सवाल की झड़ी लगाने वाले सांसद कौशल किशोर को मिली टीम मोदी में खास जगह …

नई दिल्ली। कोरोनाकाल में सरकार पर सवालों की बारिश करने वाले सांसद कौशल किशोर को टीम मोदी में खास तवज्जो दी गई है। केंद्रीय कैबिनेट के विस्तार के तहत जिन 43 नेताओं ने बुधवार को पद और गोपनीयता की शपथ ली उनमें से एक कौशल किशोर भी थे। कौशल किशोर उत्तर प्रदेश के मोहनलालगंज से बीजेपी सांस हैं। अपने 30 सालों के राजनीतिक करियर में कौशल किशोर दो बार लोकसभा सांसद रहे हैं और वह साल 2003-04 में मुलायम सिंह की सरकार में राज्य मंत्री भी रह चुके हैं। बता दें कि स्मृति ईरानी ने नरेंद्र मोदी के खिलाफ मोर्चा खोला था और धरने पर बैठ गईं थी, जिसके बाद से उन्हें भाजपा में खास तवज्जो दी जाती है और चुनाव हारने के बाद भी उन्हें मंत्रालय दिया गया था। 

कौशल किशोर का जन्म यूपी के बेगरिया गांव में ही सन् 1960 में हुआ था। 61 साल के हो चुके किशोर खुद अनुसूचित जाति के हैं और मोदी सरकार ने उन्हें हाल ही में बीजेपी अनुसूचित जाति मोर्चा का राज्य प्रमुख भी बनाया था। वह साल 2002 से 2007 तक उत्तर प्रदेश में विधायक भी रह चुके हैं।

खास बात यह है कि हाल ही में कौशल किशोर ने उत्तर प्रदेश में कोरोना प्रबंधन ठीक न होने को लेकर योगी सरकार को निशाने पर लिया था। दरअसल, कौशल किशोर इसी साल अप्रैल में कोरोना की वजह से अपने भाई को खो दिया था। इसके बाद उन्होंने सीएम योगी को चिट्ठी लिखकर दो सरकारी अस्पतालों में कुप्रंबधन पर सवाल खड़े किए थे।

हालांकि, हाल ही में किशोर कौशल अपने बेटे आयुष और बहू अंकिता को लेकर विवादों में थे। दरअसल, कौशल किशोर के बेटे ने आरोप लगाया था कि लखनऊ में कुछ लोगों ने उनपर हमला कर दिया है। हालांकि, पुलिस ने इन दावों को गल बताया था।

error: Content is protected !!