Breaking News
.

मंत्री सारंग ने लगाया पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह पर आरोप: बोले- दिग्विजय हैं पाकिस्तान के स्लीपर सेल, दिग्गी ने कहा- फेक वीडियो…

भोपाल। मध्यप्रदेश के मालवा अंचल में उज्जैन और इंदौर में 2 दिन के अंदर हुई दो घटनाओं ने सियासी पारा चढ़ा दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ट्वीट करके उज्जैन की घटना में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ की जगह ‘काजी साहब जिंदाबाद’ की बात कहकर एक नई बहस को जन्म दे दिया है। बयान के बाद दिग्विजय सिंह सोशल मीडिया पर जबरदस्त ट्रोल किए जा रहे हैं। वहीं, प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने पलटवार करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को पाकिस्तान का स्लीपर सेल बता दिया है। वहीं, प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि दिग्वजय सिंह सिर्फ तुष्टिकरण के लिए बयान दे रहे हैं। दुनिया में कहीं भी ‘काजी साहब जिंदाबाद’ का नारा नहीं लगता, लेकिन यह सिर्फ दिग्विय सिंह ही सुन सकते हैं।

सोमवार को श्री सारंग ने दिग्विजय सिंह के ट्विट पर पलटबार करते हुए कहा कि दिग्विजय सिंह हर समय पाकिस्तान परस्ती की बात करते हैं। क्या दिग्विजय सिंह पाकिस्तान के स्लीपर सेल हैं? क्या वह आईएसआई के एजेंट के तौर पर काम करना चाहते हैं? उन्होंने कहा कि चाहे कन्हैया कुमार की बात हो या हाफिज सईद की बात हो या फिर अब उज्जैन की घटना की बात हो, जब भी देशद्रोहियों के खिलाफ कार्रवाई होती है, उनके पेट में दर्द होने लगता है। श्री सारंग ने कहा कि किसी भी मस्जिद, कार्यक्रम और मदरसे में काजी साहब जिंदाबाद के नारे नहीं लगाए जाते, इस्लाम में इस बात की इजाजत नहीं है। उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह 3 दिन बाद क्यों ट्वीट कर रहे हैं? क्या वह अपराधियों को बचाना चाहते हैं? मतलब साफ है कि हर बार की तरह दिग्विजय सिंह देशद्रोहियों को संरक्षण देना चाहते हैं।

मंत्री सारंग ने कहा कि दिग्विजय सिंह सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक पर सवाल खड़े करके सेना का मनोबल गिराना चाहते हैं। दिग्विजय सिंह हर समय आतंकवादियों के साथ खड़े दिखाई देते हैं। श्री सारंग ने कहा कि कांग्रेस पार्टी को आगे आकर दिग्विजय सिंह के खिलाफ कार्रवाई करना चाहिए। यदि ऐसा नहीं होता है तो यह माना जाएगा कि यह कांग्रेस का ऑफिशियल बयान है। लोग कहने लगे हैं कि दिग्विजय सिंह पाकिस्तान के स्लीपर सेल जैसा काम करने लगे हैं। कांग्रेस को स्पष्टीकरण देना चाहिए कि हर समय देशद्रोहियों के साथ दिग्विजय सिंह क्यों दिखते हैं।

मंत्री सारंग ने इंदौर मामले पर कहा कि यह जांच का विषय है कि कोई व्यक्ति नाम बदलकर क्यों रह रहा है? उत्तर प्रदेश से इंदौर चूड़ी बेचने आए तसलीम खान के पास हिंदू और मुसलमान दो नामों से अलग-अलग आधार कार्ड क्यों हैं? इस मामले की पूरी जांच होनी चाहिए? उसकी पिटाई पर चर्चा से ज्यादा बात उसके गलत कृत्य, आइडेंटिटी क्यों छुपाई, इस पर होनी चाहिए? ज्ञात हो कि उत्तर प्रदेश में लव जिहाद का बड़ा रैकेट पकड़ाया है? इस मामले की जांच लव जिहाद एंगल से भी होना चाहिए।

error: Content is protected !!