Breaking News
.

मंत्री अनिला भेंड़िया ने चौपाल लगाकर सुनी ग्रामीणों की समस्याएं: त्वरित निराकरण के दिए निर्देश

रायपुर। महिला एवं बाल विकास तथा समाज कल्याण मंत्री श्रीमती अनिला भेंड़िया मंगलवार को बालोद जिले के डौण्डीलोहारा विकासखण्ड के ग्राम गारका, आलीखूँटा, कापसी, परसाडीह और सेमहरडीह पहुँची। उन्होंने इन गांवों में चौपाल लगाकर ग्रामीणों की मांगों और समस्याओं को गंभीरतापूर्वक सुना। उन्होंने ग्रामीणों द्वारा की गई मांगो एवं समस्याओं के  समाधान हेतु सम्बंधित विभाग के अधिकारियों को त्वरित कार्रवाई करने के निर्देश मौके पर दिए।

श्रीमती भेंड़िया ने कहा कि प्रदेशवासियों की समस्याओं का त्वरित निराकरण करना छत्तीसगढ़ सरकार की प्राथमिकताओं में है। गांवों के विकास में सबकी सहभागिता जरूरी है। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा  ग्राम और ग्रामीणों के विकास के लिए विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही है। श्रीमती भेंडिया ने राज्य सरकार की मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना, राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना की जानकारी देते हुए ग्रामीणों को उनका लाभ उठाने प्रेरित किया।

श्रीमती भेंड़िया ने कई विकास कार्यों की सौगात ग्रामीणों को दी। उन्होंने ग्राम गारका में 05 लाख रुपए लागत के सी.सी.रोड निर्माण कार्य, ग्राम आलीखूँटा में 05 लाख रुपए लागत के सी.सी.रोड व 04.50 लाख रुपए लागत के सामुदायिक भवन निर्माण कार्य और ग्राम सेमहरडीह में शासकीय प्राथमिक शाला में 05  लाख रुपए लागत के अतिरिक्त कक्ष निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया और ग्रामीणों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

श्रीमती भेंड़िया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र देवरीबंगला में शहीद जवानों की याद में आयोजित रक्तदान शिविर भी पहुंची। यहां उन्होंने रक्तदान कर चुके लोगों को प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। इस अवसर पर क्षेत्र के जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में ग्रामीणजन मौजूद थे।

error: Content is protected !!