Breaking News
.

मोदी सरकार के संभावित फेरबदल में हो सकते हैं कई नये चेहरे शामिल, तो कई का पत्ता कटेगा …

नई दिल्ली (संदीप सोनवलकर) । केंद्र की सात साल पुरानी हो चुकी मोदी सरकार में बदलाव की बयार जल्दी ही चल सकती है. जानकारों के अनुसार जल्दी ही केन्द्रीय मंत्रिमंडल में बदलाव हो सकता है. इसमें कई नये चेहरों को शामिल किया जा सकता है तो कई पुराने चेहरों की छुटटी हो सकती है. मंत्रिमंडल में बदलाव का आधार प्रादेशिक समीकरण, अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव और मंत्रियों की परफारमेंस को बनाया जा रहा है. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह मंत्रियों के कामकाज की समीक्षा कर रहे हैं. इसके साथ ही उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ. मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान सहित कई बड़े नेताओं से बातचीत हो चुकी है. हालांकि ये सब कयास ही है क्योंकि मोदी सरकार सरप्राइज के लिए जानी जाती है और मंत्रिमंडल में बदलाव होगा या नहीं ये अंतिम फैसला तो मोदी और शाह ही करेंगे।

जानकारों का मानना है अगले साल होने वाले उत्तरप्रदेश के चुनाव और पिछले कुछ दिनों में राज्यों में हो रही उथलपुथल को देखते हुए ये बदलाव किया जा रहा है . सबसे बड़ा बदलाव मध्यप्रदेश में हो सकता है जहां के सीएम शिवराज सिंह को दिल्ली बुलाया जा सकता है और उनकी जगह पर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को भेजा जा सकता है. तब शिवराज को कृषि मंत्रालय दिया जा सकता है.

इसके साथ ही असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल और महाराष्ट्र के पूर्व मुंख्यमंत्री देवेन्द्र फणनवीस को भी केन्द्र की सरकार में शामिल किया जा सकता है. एक सोच ये भी है कि पार्टी में कुछ बड़े चेहरों और प्रवक्ताओं की जरुरत है इसलिए कुछ बड़े चेहरों को वापस भेजा जा सकता है.

असल में कोरोना काल के बाद सरकार की हो रही लगातार आलोचनाओं और बंगाल में मिली हार के बाद से ही बीजेपी और आरएसएस के बीच चिंतन जारी है और ये बात तो साफ निकलकर आयी है कि सत्ता और संगठन दोनों में बदलाव की जरुरत है. कहा जा रहा है कि ये बदलाव जुलाई के संसद सत्र से पहले ही होगा .इसके साथ ही दूसरी पार्टियों से आये ज्योतिरादित्य सिंधिया, जितिन प्रसाद और अलग से पार्टी बना रहे पशुपति पारस को लाना होगा .इसके साथ ही इस समय सरकार के कई मंत्रियों के बाद एक से ज्यादा प्रभार है और अकाली दल और शिवसेना के साथ छोड़ देने के कारण भी कई पद खाली है .

चिराग पासवान से अलग होकर मोर्चा संभाल रहे पशुपति पारस को दिवंगत नेता पासवान के पास रहा केमिकल और फर्टिलाइजर दिया जा सकता है. इसके अलावा जिन प्रमुख लोगों को मंत्रालय मिलने की चर्चा है उसमें डॉ. महेश शर्मा, अनिल बलोनी, ज्योतिरादित्य सिंधिया, लक्ष्मिनारायण पांडे, अनुराग ठाकुर प्रमुख हैं। इसके अलावा मंत्रिमंडल से हटाकर संगठन में लाए जाने की चर्चा है जिसमें रविशंकर प्रसाद और प्रकाश जावड़ेकर शामिल हैं।

error: Content is protected !!