Breaking News
.

जमीं तलाशना सीख …

अपनी जमीं तलाशना सीख,

आकाश भी मिलेगा।

जरा अंधकार में चलना सीख,

प्रकाश भी मिलेगा।।

*******

दूसरों पर भरोसा ना कर,

ज़रा खुद पे करो यकीन।

तुम्हें हर मंजिल मिलेगा,

जो लगता है नामुमकिन।।

कभी हारना भी सीख ,

देखना शाबाश भी मिलेगा–

*******

बिना काँटों के कभी कोई ,

गुलाब खिला करते नहीं ।

बिना साधना के यहाँ पर,

भगवान मिला करते नहीं।।

कठपुतली है तो क्या हुआ,

मुक्ताकाश भी मिलेगा–

*******

दूसरों के पदचिन्हों पर तो,

यहां हर कोई चलता है।

जो भावनाओं में बहे,

उसे यहां हर कोई छलता है।।

तू खंज़र खोजकर देख,

अपने आसपास ही मिलेगा–

 

©श्रवण कुमार साहू, राजिम, गरियाबंद (छग)             

error: Content is protected !!