Breaking News
.

लालू ने कहा-हुजूर, बीमार रहता हूं, हाजिरी से राहत दीजिए, कोर्ट ने कही यह बात…

पटना। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को पेशी से राहत मिल गई है। बांका कोषागार से 46 लाख रुपए की अवैध निकासी मामले में लालू मंगलवार को पटना के CBI की विशेष अदालत MP-MLA कोर्ट में पेश हुए। उन्होंने कोर्ट से सशरीर पेशी से राहत देने की मांग की। इस पर कोर्ट राजी हो गया।

RJD सुप्रीमो ने कहा, “हुजूर… मैं अक्सर बीमार रहता हूं। ऐसे में मुझे पेश होने से राहत दीजिए। मेरे वकील इस मामले को देखेंगे।’ उनकी इस मांग पर कोर्ट ने कहा, “ठीक है अब से आप अपने वकील को तारीख पर भेज दीजिएगा।’ इतनी सुनवाई के बाद केस की अगली तारीख 30 नवंबर तय की गई। कोर्ट में हाजिरी के बाद लालू संत जोसेफ स्कूल के मैरी वार्ड में बीमार सिस्टर नीलिमा से मिलने पहुंचे।

बता दें, इस केस में पटना के स्पेशल जज प्रजेश कुमार की अदालत ने लालू सहित 28 आरोपियों को सशरीर उपस्थित होने का आदेश दिया था। इसके बाद RJD सुप्रीमो सोमवार शाम दिल्ली से पटना आए हैं।

बांका उपकोषागार से फर्जी विपत्र के सहारे 46 लाख रुपए की अवैध निकासी का मामला 1996 से चल रहा है। इसमें शुरू में तात्कालीन मुख्यमंत्री लालू यादव के अलावा 44 आरोपी थे। फिलहाल 28 लोगों पर केस चल रहा है। आधा दर्जन आरोपियों की मौत हो चुकी है। इसकी सूचना कोर्ट को दी गई है।

फिलहाल लालू यादव कई बीमारियों के शिकार हैं। उन्हें चलने-फिरने में भी कठिनाई हो रही है। उनकी किडनी पूरी तरह से काम नहीं कर रही है। इसलिए परेशानी बढ़ी हुई है। जमानत मिलने के बाद से वे लगातार दिल्ली स्थित अपनी बेटी मीसा भारती के आवास पर रह रहे हैं। इससे पहले वे बिहार में दो सीटों पर हुए उपचुनाव में पटना आए थे और हेलीकॉप्टर से तारापुर और कुशेश्वर स्थान चुनाव प्रचार में भी गए थे, लेकिन चुनाव परिणाम में हार के बाद उनकी तबीयत खराब हो गई और दूसरे ही दिन उन्हें एकाएक दिल्ली ले जाया गया था।

error: Content is protected !!