Breaking News
.

केजरीवाल ने कहा- दिल्ली में 18 से शुरू होगा रेडलाइट ऑन, गाड़ी ऑफ अभियान, पड़ोसी राज्यों में जल रहीं पराली …

नई दिल्ली। दिल्ली में प्रदूषण पर काबू पाने के लिए आगामी 18 अक्टूबर से एक बार फिर ‘रेड लाइट ऑन गाड़ी ऑफ’ अभियान की शुरुआत होने जा रहा है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को दिल्लीवासियों से आग्रह किया कि वे सप्ताह में एक बार वाहनों का इस्तेमाल बंद करके और रेड लाइट पर वाहनों के इंजन बंद करके शहर में प्रदूषण को कम करने में मदद करें।

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के आस-पास के राज्यों के किसानों ने पराली जलाना शुरू कर दिया है, जिसके कारण दिल्ली में पिछले तीन-चार दिनों से वायु प्रदूषण बढ़ने लगा है। उन्होंने यह भी कहा कि स्थानीय स्तर पर होने वाला प्रदूषण सुरक्षित सीमा में है, लेकिन अन्य राज्यों में पराली जलाने से यह बढ़ रहा है।

सीएम ने कहा, “मैं पिछले एक महीने से वायु गुणवत्ता के आंकड़े ट्वीट कर रहा हूं। इससे पता चलता है कि प्रदूषण बढ़ना शुरू हो गया है क्योंकि पड़ोसी राज्यों ने अपने किसानों की मदद नहीं की, जो धान की पराली जलाने के लिए मजबूर हैं।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब समय आ गया है कि दिल्लीवासियों को प्रदूषण कम करने की जिम्मेदारी लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह आवश्यक है कि प्रत्येक व्यक्ति जिम्मेदारी ले और स्थानीय स्तर पर पैदा होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए 18 अक्टूबर से शुरू होने वाले ‘रेड लाइट ऑन गाड़ी ऑफ’ (Red Light on, Gaadi off) अभियान सहित तीन उपायों में योगदान दें।

हमने पिछले साल भी ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ पहल शुरू की थी। यह 18 अक्टूबर से फिर से शुरू हो जाएगा, जैसे ही आप रेड लाइट पर रुकते हैं, अपने वाहन के इंजन को बंद कर दें। आप चाहें तो इसे आज ही शुरू कर सकते हैं, हालांकि इसे औपचारिक रूप से 18 तारीख को लॉन्च किया जाएगा।

विशेषज्ञों का कहना है कि रेड लाइट पर वाहन के इंजन बंद रखने से 250 करोड़ रुपये की बचत हो सकती है और करीब 13-20 प्रतिशत तक प्रदूषण भी कम हो सकता है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि हमें सप्ताह में कम से कम एक बार अपना वाहन नहीं निकालने और मेट्रो, बस, या दूसरों के साथ कार पूल करने का निर्णय लेना चाहिए।

error: Content is protected !!