Breaking News
.

कांग्रेस ज्वॉइन करते ही भाजपा पर भारी पड़ने लगे कन्हैया, पंजाब में रार पर बोले- मोदी और गडकरी के बीच मतभेदों पर क्यों नहीं होती बात …

नई दिल्ली । जेएनयू स्टूडेंट यूनियन के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने अपनी आकर्षक शैली में बीजेपी पर हमला बोला है। बता दें कि उन्होंने पिछले दिनों ही कांग्रेस ज्वॉइन की है। इसके साथ ही कांग्रेस का वजन भी बढ़ गया है। बता दें कि पिछले दिनों जेएनयू स्टूडेंट यूनियन के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार व राष्ट्रीय दलित नेता जिग्नेश मेवानी ने कांग्रेस ज्वॉइन की है। इसके बाद से विपक्षी दल में सुगबुगाहट भी बढ़ गई है। सूत्र बतातें हैं कि भाजपा में इन दोनों नेताओं को लेकर विशेष एहतियात बरता जा रहा है। तमाम कोशिशों के बावजूद भी कन्हैया कुमार अपनी चिर परिचित अंदाज में बीजेपी व मोदी पर हमला बोला है। जिस पर लोग अब चुटकी लेने लगे हैं और मोदी-गडकरी के किस्से गलियों में घूम रहे हैं।

हाल ही में लेफ्ट से सेंटर में आए कांग्रेस नेता कन्हैया कुमार ने कहा है कि केवल यही पार्टी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से लड़ सकती है। राहुल गांधी की मौजूदगी मंगलवार को कांग्रेस का हाथ थामने वाले जेएनयू स्टूडेंट यूनियन के पूर्व अध्यक्ष ने पंजाब में पार्टी की कलह पर भी अपनी बात रखी और बीजेपी का उदाहरण देकर पूछा कि पीएम मोदी और सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के बीच मतभेदों पर बात क्यों नहीं होती है।

रिपोर्ट के मुताबिक, कन्हैया ने कहा, ”कांग्रेस चांद की तरह है। कई बार यह बढ़ता हुआ प्रतीत होता है, लेकिन यह होता नहीं। फिर भी बीजेपी से लड़ने के लिए यह एकमात्र विकल्प है।” पंजाब कांग्रेस में झगड़े और जी 23 नेताओं के असंतोष पर युवा नेता ने कहा, ”परिवार में हमेशा कुछ मुद्दे और शिकायतें होंगी, लेकिन यदि एक तरफ बीजेपी है तो दूसरी तरफ केवल कांग्रेस है। क्यों पीएम मोदी और नितिन गडकरी के बीच मतभेदों को नजरअंदाज किया जाता है।”

2024 लोकसभा चुनाव में विपक्ष के चेहरे को लेकर कन्हैया ने कहा, ”लोग तय करेंगे कि पीएम मोदी के विरोध में वह ममता बनर्जी को अपना नेता चाहते हैं या राहुल गांधी को।” कांग्रेस की सदस्यता लेते समय कन्हैया कुमार ने कहा था कि सबसे पुरानी पार्टी को बचाए बिना देश को नहीं बचाया जा सकता है। कन्हैया ने कांग्रेस को सबसे पुरानी पार्टी के अलावा इसे सबसे अधिक लोकतांत्रिक भी बताया था।

error: Content is protected !!