Breaking News
.

शिवराज को कमलनाथ ने दिया खुला चैलेंज- कमलनाथ बोले- शिवराज जी कैसी रेस लगानी है, आइए लगाते हैं …

बीजेपी का पलटवार- पहले कांग्रेस में चल रही रेस देख लें- वीडी शर्मा

भोपाल। महात्मा गांधी की जयंती पर प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय भोपाल में आयोजित कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सिंह चौहान को रेस लगाने की चुनौती दे दी। कमलनाथ ने कहा कि मेरे स्वास्थ्य को लेकर कई चर्चाएं चलीं। शिवराज जी कह रहे थे कि कमलनाथ जी बीमार हैं। बुजुर्ग हो गए हैं। शिवराज जी, मैं आपको चुनौती देता हूं, कैसी रेस लगानी है, आइए लगाते हैं। मैं पोस्ट कोविड चेकअप कराने गया था, क्योंकि मुझे निमोनिया हुआ था। वह तो किसी को भी हो सकता है। मैं दिल्ली में था, क्योंकि वहां भी मेरे पास कई जवाबदारियां हैं।

कमलनाथ के बयान पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि मैं भगवान से प्रार्थना करता हूं कि वह स्वस्थ रहें। जहां तक रेस की बात है, तो कांग्रेस नेता नटवर सिंह, कपिल सिब्बल, मनीष तिवारी जैसे नेताओं की गांधी परिवार से रेस चल रही है। कमलनाथ जी पहले उसे देख लें। फिर मध्यप्रदेश की रेस के बारे में चिंता करें। शर्मा ने कहा कि हम अपने काम, संगठन तंत्र, सात्विक विचारों और गरीब कल्याण की योजनाओं के आधार पर मैदान में हैं। अब मध्यप्रदेश में कमलनाथ जी की रेस बची नहीं है।

उपचुनावों में प्रत्याशी चयन पर कमलनाथ ने कहा कि हमें जीतने वाला उम्मीदवार चाहिए। हम सर्वे और विचार-विमर्श कर शीघ्र ही प्रत्याशी घोषित करेंगे। जिताऊ उम्मीदवार को टिकट दिया जाएगा।

कमलनाथ ने कहा कि वर्तमान में जो चुनाव सामने है, वह देश की संस्कृति और प्रदेश को बचाने के लिए है। हर क्षेत्र में मध्य प्रदेश नंबर वन है। एनसीआरबी की रिपोर्ट में आदिवासियों पर अत्याचार और किसानों की आत्महत्या में मध्य प्रदेश नंबर वन है। यही नहीं, मध्यप्रदेश भ्रष्टाचार में भी नंबर वन है। कमलनाथ ने कहा कि हमें सोचना होगा कि गांधी जी की सोच, विचार और मार्ग पर हम कैसे चलें? प्रदेश में कोई भी वर्ग सुरक्षित नहीं है।

कमलनाथ ने कहा कि हमारी सरकार में 100 रुपए में 100 यूनिट बिजली देते थे। आज हजारों रुपए के बिल आ रहे हैं। शिवराज सिंह जी आज भी झूठ बोलने से, झूठी घोषणाएं करने से बाज नहीं आ रहे। कमलनाथ ने कहा कि उनको तो बस मंच मिल जाए। शिलालेख का पत्थर मिल जाए, वो तो उसे कहीं भी लगाने को तैयार हो जाते हैं। झूठ बोलकर जनता को गुमराह करने में लगे हैं।

वहीं, पूर्व मंत्री और विधायक पीसी शर्मा ने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि महात्मा गांधी की मूर्ति को मिंटो हॉल से हटाने वाले अब वहां माला चढ़ाने आ रहे हैं। महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे को चाहने वाले अब उनकी मूर्ति पर माला चढ़ाने आ रहे हैं। बीजेपी से लड़ना है, तो स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की तरह लड़ना पड़ेगा। बीजेपी वाले फूट डालो और राज करो की नीति वाले हैं।

error: Content is protected !!