Breaking News
.

जोगी कांग्रेस के प्रवक्ता वीरेंद्र बघेल ने कहा- क्वारैंटाइन सेंटर जाकर देखें कांग्रेस नेता, अपनी पीठ न थप-थपाएं …

पेंड्रा (सुयश जैन)। जोगी कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता वीरेद्र बघेल का कहना है कि प्रदेश के किसी भी क्वारैंटाइन सेंटर में सरकार की ओर से किसी तरह की कोई व्यवसथा नहीं है। जो भी व्यवस्था वहां है वह पंचायत और स्थानीय लोगों की है। कांग्रेस नेता सारी सुविधा क्वारैंटाइन सेंटर में होने की बात बताकर जबरन अपनी पीठ थप-थपा रहे हैं। अव्यवस्था और सुविधा नहीं होने के कारण ही क्वारैंटाइन सेंटर में मजदूरों की मौत हुई है।

कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री उत्तम वासुदेव ने एक बयान जारी कर कल यह कहा था कि प्रदेश के सभी क्वारैंटाइन सेंटर्स में सरकार की ओर से समुचित व्यवस्था की गई है। उनके इस बयान पर ही वीरेंद्र बघेल ने प्रतिक्रिया देते हुए एक बयान जारी कर कहा कि जमीनी हकीकत ये है कि क्वारैंटाइन सेंटर्स में सुविधाओं का भारी अभाव है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग ने गांवों में बनाए जाने वाले क्वारैंटाइन सेंटर्स में प्रवासी मजदूरों की जांच, आवास, भोजन, स्नान, शौचालय, साफ-सफाई की व्यवस्था के लिए पंचायत विभाग को निर्देश दिए हैं। साथ ही बेरीकेडिंग और खाना-पानी देने के लिए उपयोग किए गए डिस्पोजल्स के निपटान की भी बात कही है। बता दें कि स्वास्थ्य विभाग ने क्वारैंटाइन सेंटर के संचालन और स्थानीय सर्विलांस के लिए मानव संसाधन की व्यवस्था के लिए भी पंचायत विभाग से बात की है।

छत्तीसगढ़ में कोरोना से मौत की संख्या उतना नहीं है जितने मौत क्वारैंटाइन सेंटरों में हुई है, दूसरे राज्यों से यहां आने वाले 10 से ज्यादा लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। यह सभी मौतें राज्य के विभिन्न क्वारैंटाइन सेंटर्स में हुईं हैं, जिससे राज्य में क्वारैंटाइन सेंटर्स में व्यस्थाओं को लेकर भी सवाल उठने लगे हैं।

कांग्रेसी नेता अपना पीठ थप-थाप रहे हैं जबकि जमीनी हकीकत ये है कि अभी तक कोरोना की लड़ाई में समाजसेवकों और ग्राम पंचायत सरपंचों द्वारा ही जो कुछ भी है किया गया है। क्वारैंटाइन सेंटरों में भी बहुत शिकायतें आ रहीं हैं। कहीं खाना एक टाइम ही मिल रहा तो कहीं शौचालय इतना गन्दा है कि शौचालय जाने से वहां रह रहे लोग भयभीत हैं और साफ-सफाई तो ना के बराबर है।

error: Content is protected !!