Breaking News
.

धर्म को बढ़ावा देने IRCTC ने शुरू की रामायण यात्रा, सफदरजंग रेलवे स्टेशन से पहली ट्रेन चलेगी आज …

नई दिल्ली। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन ने धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए रामायण यात्रा यात्राओं की एक श्रृंखला की योजना बनाई है, जो कोविड-19 की बेहतर स्थिति को देखते हुए ट्रेनों द्वारा घरेलू पर्यटन को धीरे-धीरे फिर से शुरू करने का प्रतीक है।

‘रामायण सर्किट’ पर पहली ट्रेन प्रस्थान आज दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से शुरू होगी। 17 दिनों की इस यात्रा में भगवान राम के जीवन से जुड़े अयोध्या, सीतामढ़ी और चित्रकूट सहित कई प्रमुख स्थान शामिल होंगे। आईआरसीटीसी ने बताया यह डीलक्स एसी ट्रेन 1st AC और 2nd AC जैसे दो प्रकार के एकोमोडेशन प्रदान करती है। इसमें प्रत्येक कोच के लिए सीसीटीवी कैमरे और सुरक्षा गार्ड जैसी सुरक्षा विशेषताएं भी हैं। ट्रेन में 2 बढ़िया भोजन रेस्तरां, एक आधुनिक रसोईघर, डिब्बों में शावर कक्ष आदि भी हैं।

आईआरसीटीसी ने एक बयान में कहा कि उसने अपनी तीर्थयात्री विशेष पर्यटक ट्रेनों और डीलक्स पर्यटक ट्रेनों का उपयोग करते हुए बजट और प्रीमियम सेगमेंट के पर्यटकों की आवश्यकता को समझते हुए ट्रेन टूर पैकेज की योजना बनाई है। आईआरसीटीसी ने कहा कि रामायण सर्किट पर पहली ट्रेन 7 नवंबर को दिल्ली से शुरू होगी और उसके बाद अगले महीने में चार अन्य रेलगाड़ियां भी रवाना होंगी।

इसके अलावा, अन्य पैकेज में 12 रात/13 दिन की रामायण यात्रा एक्सप्रेस-मदुरै शामिल है, जो 16 नवंबर को चलेगी। बयान में कहा गया है कि दक्षिण भारत के तीर्थ पर्यटन बाजार की आवश्यकता को पूरा करने के लिए आईआरसीटीसी रामायण यात्रा एक्सप्रेस-मदुरै का संचालन अपनी बजट श्रेणी की ट्रेन के साथ करेगी जिसमें स्लीपर श्रेणी के कोच होंगे। ट्रेन मदुरै से डिंडीगुल, तिरुचिरापल्ली, करूर, इरोड, सेलम, जोलारपेट्टई, काटपाडी, चेन्नई सेंट्रल, रेनिगुंटा और कडप्पा में बोर्डिंग पॉइंट के साथ शुरू होगी। यह हम्पी, नासिक, चित्रकूट, इलाहाबाद, वाराणसी को कवर करेगी और मदुरै लौटेगी।

बयान में कहा गया है कि रामायण यात्रा एक्सप्रेस-श्रीगंगानगर का 16 रात/17 दिन का पैकेज भी है और ट्रेन 25 नवंबर को रवाना होगी। वहीं, उत्तर भारत के बजट खंड के पर्यटकों के लिए आईआरसीटीसी रामायण यात्रा एक्सप्रेस-श्री गंगानगर को अपनी तीर्थ विशेष पर्यटक ट्रेनों के साथ संचालित कर रहा है।

बयान में कहा गया है कि ट्रेन अबोहर-मलौत, बठिंडा, बरनाला, पटियाला, राजपुरा, अंबाला कैंट, कुरुक्षेत्र, करनाल, पानीपत, दिल्ली कैंट, गुड़गांव, रेवाड़ी, अलवर, जयपुर, आगरा फोर्ट, इटावा और कानपुर में बोर्डिंग और डी-बोर्डिंग पॉइंट के साथ गंगानगर से शुरू होगी।

यह ट्रेन अयोध्या, सीतामढ़ी, जनकपुर, वाराणसी, प्रयागराज और चित्रकूट, नासिक, हम्पी और रामेश्वरम, कांचीपुरन को कवर करेगा और गंगानगर लौटेगी।

error: Content is protected !!