Breaking News
.

महापंचायत में किसान मोर्चा ने 27 सितंबर को किया भारत बंद का ऐलान, देशभर से मिलने लगा समर्थन …

नई दिल्ली। किसानों का भारत बंद अब 25 सितंबर के बजाए 27 सितंबर को होगा। महापंचायत के दौरान किसान मोर्चा ने इस बात का ऐलान किया।गौरतलब है कि केंद्र द्वारा बनाए गए तीन किसान विरोधी कानूनों को वापस लेने के लिए किसान लगातार आंदोलन कर रहे हैं। करीब नौ महीने से किसान दिल्ली बॉर्डर पर जुटे हुए हैं, लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार अपनी जिद पर अड़ी हुई और उनकी मांगों पर रत्ती भर ध्यान नहीं दे रही है। वहीं किसानों ने भी ठान लिया है कि वह अपनी मांग मनवाकर रहेंगे। इसके लिए किसानों ने 25 सितंबर को भारत बंद का ऐलान किया था लेकिन रविवार को इस आंदोलन की तारीख बदलकर 27 सितंबर कर दी है। जिसके बाद से देशभर के विभिन्न संगठनों व भाजपा सांसदों ने किसानों के इस आंदोलन को अपना समर्थन देना शुरू कर दिया है।

किसान मोर्चा ने कहा कि 27 सितंबर को उनके भारत बंद के दौरान देश में सबकुछ बंद रहेगा। इसके साथ ही यूपी संयुक्त किसान मोर्चे के गठन का भी ऐलान किया गया है। वहीं रविवार को किसान महापंचायत के दौरान किसानों के नेता राकेश टिकैत ने किसान आंदोलन को लेकर कई अन्य घोषणाएं भी कीं। उन्होंने कहा कि हमने शपथ ली है कि मरते दम तक हम धरनास्थल से हटेंगे नहीं। भले ही वहां पर हमारी कब्र ही क्यों न बना दी जाए। अगर जरूरत पड़ी तो हम अपनी जान भी दे देंगे, लेकिन हम वहां से हटेंगे नहीं। जब तक हम जीत नहीं जाते हैं, हमें कोई भी ताकत वहां से हटा नहीं सकती है। गौरतलब है कि किसान दिल्ली बॉर्डर पर करीब 9 महीने से धरना दे हैं।

इसके साथ ही राकेश टिकैत ने यह भी कहा कि जब सरकार हमें बुलाएगी हम वार्ता के लिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जब तक सरकार हमारी मांग नहीं मान लेती है, हमारा धरना जारी रहेगा। टिकैत ने कहा कि देश की आजादी के लिए तो 90 साल तक संघर्ष हुआ था। हम नहीं बता सकते कि हमारा संघर्ष कितना लंबा चलेगा।

error: Content is protected !!