Breaking News
.

लॉकडाउन में पड़ोसी ने 16 साल की आदिवासी लड़की से कई बार किया रेप, गर्भवती होने पर जहर खाकर दी जान …

चेन्नई। लॉकडाउन में जब सब अपने घरों में थे तब इसका फायदा उठाकर अधेड़ पड़ोसी जो ड्राइवर का काम करता है, ने 16 साल की छात्रा के साथ कई बार रेप किया। बार बार के रेप और किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी से सहमी बच्ची ने अपने उपर बीती घटना का खुलासा किसी से नहीं किया। इस बीच वह गर्भवर्ती हो गई और स्कूल में बेहोश होने पर इसका खुलासा हुआ। पीड़ित ने जहर खाकर जान देने की कोशिश की। पांच दिनों तक जिंदगी और से मौत लड़ते हुए आखिरकार बच्ची जंग हार गई।

तमिलनाडु में 16 साल की आदिवासी रेप पीड़िता की मौत हो गई है। पीड़िता ने रेप के बाद प्रग्नेंट होने का पता चलने पर जहर खा लिया था। तिरुवन्नामलाई के सरकारी अस्पताल में 12 दिनों से उसका इलाज चल रहा था। आखिरकार वह जिंदगी की जंग हार गई।

पुलिस के अनुसार, पीड़िता ने बताया कि उसके पड़ोसी ने कई बार उसका बलात्कार किया। आरोपी की पहचान 27 साल के जी हरिप्रसाद के रूप में हुई, जो तिरुवन्नामलाई के पास गांव का रहने वाला है। आरोपी कल्लाकुरिची शहर में ड्राइविंग करता है। वह किराए पर एक मकान में रह रहा था, उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

पीड़िता 22 दिसंबर, 2021 को स्कूल में बेहोश हो गई थी। उसे हॉस्टल वार्डन शेम्बागवल्ली द्वारा पास के अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने बताया कि वह गर्भवती है। वार्डन ने प्रिंसिपल को इसकी जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि प्रिंसिपल ने लड़की के माता-पिता को बुलाया और उन्हें प्रेग्नेंसी की जानकारी दिए बिना लड़की को उनके साथ घर वापस भेज दिया।

तिरुवन्नामलाई AWPS इंस्पेक्टर अनबरसी ने बताया कि 7 जनवरी को लड़की ने जहर खा लिया और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने उसकी जांच करने के बाद पेरेंट्स को बताया किया कि वह 6 महीने की प्रेग्नेंट थी। चार-पांच दिनों तक लड़की बेहोश रही। उसके होश में आने के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की। पुलिस ने कहा, “पीड़िता ने खुलासा किया कि पिछले साल लॉकडाउन के दौरान उसके पड़ोसी हरिप्रसाद ने कई बार उसका बलात्कार किया। प्रेग्नेंट होने की जानकारी मिलने पर जहर खाकर जान देने की कोशिश की।”

error: Content is protected !!