Breaking News
.

कानपुर हिंसा में बीजेपी प्रवक्ता पंडित नुपुर शर्मा के बयान से मोदी सरकार ने पल्ला झाड़ा …

नई दिल्ली। वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद विवाद को लेकर एक टीवी डिबेट के दौरान बीजेपी प्रवक्ता पंडित नूपुर शर्मा की ओर से कथित तौर पर पैगंम्बर मोहम्मद को लेकर विवादित टिप्पणी करने के बाद बवाल खड़ा हो गया है। टिप्पणी के बाद शुक्रवार को कानपुर शहर के एक इलाके में तनाव पैदा हो गया। इस बीच रविवार को भारतीय जनता पार्टी ने ऐसे बयानों को लेकर पल्ला झाड़ लिया है। पार्टी ने कहा है कि बीजेपी सभी धर्मों का सम्मान करती है।

पार्टी की ओर से जारी बयान में कहा गया है ‘भारतीय जनता पार्टी सभी धर्मों का सम्मान करती है। पार्टी किसी भी धर्म के व्यक्ति के अपमान की कड़ी निंदा करती है।’ हालांकि, पार्टी ने अपने बयानों में पंडित नूपुर शर्मा का जिक्र नहीं किया है। बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह की ओर से जारी बयान में कहा गया है भारत की हजारों सालों की यात्रा हर धर्म फले-फुले हैं। बीजेपी सर्वपंथ समभाव को मानती है। किसी भी धर्म के पूजनीयों का अपमान स्वीकार नहीं करती है।

बयान में आगे कहा गया है कि बीजेपी ना ऐसे किसी विचार को मानती है और ना ही प्रोत्साहन देती है। देश के संविधान की भी भारत के प्रत्येक नागरिक से सभी धर्मों का सम्मान करने की अपेक्षा है। हमें देश की एकता, अखंडता और विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता देनी है।

दरअसल, मंदिर-मस्जिद को लेकर छिड़े विवाद के बीच बीजेपी की प्रवक्ता नुपुर शर्मा न एक टीवी डिबेट में इस्लाम और उसके सिद्धांतों और इस्लाम धर्म के पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब के खिलाफ कथित तौर पर आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग कर टिप्पणी की थी। पंडित नूपुर शर्मा के बयान के बाद बवाल खड़ा हो गया। कानपुर में झड़प हुई, तनाव पैदा हुए और भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती करनी पड़ी।

error: Content is protected !!