Breaking News
.

प्रभारी मंत्री डॉ. डहरिया ने योजनाओं के प्रगति की समीक्षा की, कहा- सरकारी की जनहितकारी योजनाओं से पात्र हितग्राहियों को करें लाभान्वित …

रायपुर। नगरीय प्रशासन और सरगुजा जिले के प्रभारी मंत्री डॉ शिवकुमार डहरिया की अध्यक्षता में सोमवार को कलेक्टोरेट सभाकक्ष में विभागीय योजनाओं की प्रगति की समीक्षा बैठक हुई। बैठक में खाद्य और संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत और स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह टेकाम विशेष रूप से उपस्थित थे।

प्रभारी मंत्री डॉ डहरिया ने समीक्षा बैठक में कहा कि राज्य सरकार अनेक जनहितकारी  योजनाएं संचालित कर रही हैं, जिससे आम जनता सीधे लाभान्वित हो रहे हैं। उन्होंने योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन करते हुए पात्र हितग्राहियों को इसका लाभ पहुंचाने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए जीवन रक्षक उपकरण, ऑक्सीजन बेड, आईसीयू, पर्याप्त मात्रा में जरूरी दवाईयां तथा आक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए।

नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. डहरिया ने पंचायत एवं कृषि विभाग की भी समीक्षा की। उन्होंने सुराजी गांव योजना के तहत आत्मनिर्भर गौठानों की संख्या में वृद्धि तथा गोधन न्याय योजना के तहत गोबर खरीदी और वर्मी खाद बनाने का कार्य तेजी से करने के निर्देश दिए। प्रभारी मंत्री ने लोक निर्माण विभाग एवं राष्ट्रीय राजमार्ग की सड़कों के निर्माण एवं मरम्मत की समीक्षा करते हुए अंबिकापुर-बनारस रोड के मरम्मत कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए।

उन्होंने अम्बिकापुर के भारत माता चौक से दरिमा मोड़ तक निर्माणाधीन राष्ट्रीय राजमार्ग को भी शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए। बैठक में प्रभारी मंत्री डॉ. डहरिया ने कहा कि मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना अंतर्गत नगर निगम क्षेत्र में संचालित मोबाइल मेडिकल यूनिट की सफलता को देखते हुए इसे नगर पालिका एवं नगर पंचायत में भी विस्तार किया जा रहा है। विभाग द्वारा विस्तार के लिए भी आदेश जारी कर दिया गया है। उन्होंने निगम कमिश्नर को नगर पालिका एवं नगर पंचायतों में इसकी तैयारी के निर्देश दिए।

खाद्य और संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि किसानों को उर्वरक की कमी न होने दें। जिन क्षेत्रो में मांग ज्यादा है वहां अधिक मात्रा में उर्वरक उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत राशन दुकानों से संबंधित शिकायतों का जल्द से जल्द निराकरण करे। भगत ने नवीन उचित मूल्य दुकान आबंटन का आदेश तत्काल जारी करने के निर्देश खाद्य अधिकारी को दिए। उन्होंने कहा कि रेडी-टू-ईट के तहत आंगनबाड़ी केंद्रों में पूरक पोषण आहार की आपूर्ति समय-सीमा में करना सुनिश्चित हो। उन्होंने इससे संबंधित शिकायतों का निराकरण भी शीघ्र करने के निर्देश दिए।

बैठक में स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रेम साय सिंह टेकाम ने कहा कि स्वामी आत्मानन्द उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों में शिक्षक एवं कर्मचारियों की भर्ती शीघ्र पूरी की जाए। भर्ती में आरक्षण नियमांे का पूरी तरह से पालन हो। विद्यार्थियों का शत-प्रतिशत प्रवेश सुनिश्चित करें । मंत्री डॉ. टेकाम ने कहा कि आरक्षित वर्ग के विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति एवं अन्य शासकीय योजनओं के लाभ के लिए जाति प्रमाण-पत्र आवश्यक होता है। अतः अभियान चलाकर विद्यार्थियों के जाति प्रमाण-पत्र बनाया जाए।

बैठक में डॉ टेकाम ने बताया कि मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप अब स्वामी आत्मानन्द हिंदी माध्यम उत्कृष्ट विद्यालय भी प्रदेश के जिला मुख्यालयों में शीघ्र शुरू किया जाएगा। इसके लिए स्कूल का चयन करें। उन्होंने अनुकंपा नियुक्ति के संबंध में कहा कि 10 प्रतिशत की सीमा बंधन समाप्त होने के बाद भी यदि पद रिक्त नहीं होने के कारण अनुकंपा नियुक्ति करने में कठिनाई आ रही हो तो कलेक्टर कार्यालय में रिक्त पद के विरुद्ध नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी की जाए।

बैठक में लुण्ड्रा विधायक डॉ प्रीतम राम, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मधु सिंह, सदस्य राकेश गुप्ता, कलेक्टर संजीव कुमार झा, पुलिस अधीक्षक अमित तुकाराम कांबले, डीएफओ पंकज कमल, बलरामपुर-रामानुजगंज के जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुश्री तुलिका प्रजापति, अपर कलेक्टर ए.एल. ध्रुव, श्रीमती तनुजा सलाम सहित विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित थे।

error: Content is protected !!