Breaking News
.

इमरान खान का हाल पाक के पुराने प्रधानमंत्रियों जैसा ही होगा, जेल भेज सकती है शहबाज सरकार ….

इस्लामाबाद। पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। खबर यहां तक हैं कि इमरान खान पर देशद्रोह के भी केस लग सकते हैं और जेल भी जाना पड़ा सकता है। वैसे पाकिस्तान में प्रधानमंत्रियों का जेल जाना कोई नई बात नहीं है और इस लिस्ट में इमरान खान का नाम भी जुड़ सकता है। पाकिस्तान की सत्ता से हटाए जाने के बाद से शहबाज सरकार उनके खिलाफ एक के बाद जांच के आदेश दे रही है।

बुधवार को खबर आई कि पाकिस्तान की शीर्ष जांच एजेंसी ने इमरान खान को उनके कार्यकाल के दौरान तोहफे में मिले बेशकीमती हार को सरकारी तोशाखाना में जमा करने के बजाय एक आभूषण कारोबारी को 18 करोड़ रुपये में बेचे जाने के आरोपों पर जांच शुरू कर दी है।

अब एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान के संविधान के साथ खिलवाड़ करने के आरोप में इमरान खान के खिलाफ देशद्रोह का संभावित मामला दर्ज हो सकता है। इमरान पर आरोप है कि उन्होंने अपनी कुर्सी बचाने के लिए के संविधान के प्रावधानों के साथ खिलवाड़ कर उन्हें अपने विरोधियों के खिलाफ इस्तेमाल किया था।

संविधान के प्रावधानों का हवाला देते हुए विभिन्न अदालतों के समक्ष याचिकाएं दायर की गई हैं। पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक, इमरान खान ने सत्ता में अपने आखिरी दिनों के दौरान संविधान के प्रावधानों का अपने विरोधियों के खिलाफ इस्तेमाल करने की कोशिश की, इसलिए उन्हें देशद्रोह के नए आरोपों और संभावित मुकदमे का सामना करना पड़ सकता है।

हालांकि इस्लामाबाद उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश अतहर मिनल्लाह ने इन याचिकाओं में से एक को “तुच्छ” कहकर खारिज कर दिया, लेकिन खान पर अभी भी खतरा मंडरा रहा है क्योंकि अन्य याचिकाओं पर निर्णय अभी भी अदालतों में लंबित है।

पाकिस्तान के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने इमरान खान के नेतृत्व वाली पिछली सरकार के खिलाफ गुरुवार को जांच के आदेश दिए हैं। शरीफ ने पिछले चार साल से लंबित मेट्रो बस परियोजना को शुरू किए जाने में देरी करने के लिए पिछली सरकार को फटकार लगाई। ‘जियो न्यूज’ की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री ने इसे ‘घोर लापरवाही’ करार देते हुए इस पर अमल किए जाने में देरी करने पर निराशा व्यक्त की।

इस मेगा परियोजना पर पहले से ही 16 अरब रुपये खर्च किये जा चुके हैं। इसके साथ ही उन्होंने राजधानी विकास प्राधिकरण (सीडीए) को 16 अप्रैल से इस्लामाबाद मेट्रो बस सेवा शुरू करने का निर्देश दिया। परियोजना का काम कितना आगे बढ़ा है यह देखने के लिए उन्होंने पेशावर मेट्रो स्टेशन का दौरा भी किया।

पाकिस्तान के संयुक्त विपक्षी उम्मीदवार के रुप में श्री शरीफ को नेशनल असेंबली में 174 वोट मिले और इस तरह से वह देश के 23वें प्रधानमंत्री के पद पर आसीन हुए।

अगर शहबाज शरीफ सरकार इमरान खान को जेल भेजती है वो ऐसे पहले पूर्व प्रधानमंत्री नहीं होंगे जिन्हें जेल होगी। इससे पहले खुद वर्तमान पीएम शहबाज शरीफ के बड़े भाई व पूर्व पाक पीएम नवाज शरीफ भी जेल जा चुके हैं। नवाज शरीफ की जेल की सजा तो अभी भी जारी है। नवाज शरीफ से पहले पाक के पीएम और राष्ट्रपति भी जेल जा चुके हैं। इस लिस्ट में जुल्फिकार अली भुट्टो (पीएम), परवेज मुशर्रफ (राष्ट्रपति), यूसुफ रजा गिलानी (पीएम) और आसिफ अली जरदारी (राष्ट्रपति) का नाम भी शामिल है।

error: Content is protected !!