Breaking News
.

भाजपा नेता तजिंदर पाल बग्गा की गिरफ्तारी पर हाईवोल्टेज ड्रामा, पंजाब पुलिस से छुड़ाकर ला रही दिल्ली पुलिस …

चंडीगढ़। भारतीय जनता पार्टी के नेता व पीएम नरेंद्र मोदी के करीबी तजिंदर पाल बग्गा की गिरफ्तारी के बाद से नाटकीय घटनाक्रम लगातार जारी है। अब दिल्ली पुलिस ने उन्हें कुरुक्षेत्र पहुंचकर पंजाब पुलिस के कब्जे से छुड़ा लिया है और उन्हें लेकर राजधानी वापस लौट रही है। बग्गा को पंजाब पुलिस ने अरविंद केजरीवाल पर टिप्पणी के आरोप में आज सुबह 9 बजे उनके दिल्ली स्थित आवास से गिरफ्तार किया था। इसके तुरंत बाद तजिंदर पाल बग्गा ने पंजाब पुलिस के खिलाफ बेटे को अगवा करने और खुद से मारपीट करने के आरोप में केस दर्ज कराया था। इस पर दिल्ली पुलिस ने हरियाणा प्रशासन से अपील की कि वे पंजाब पुलिस के उस काफिले को रोके, जो तजिंदर पाल बग्गा को लेकर जा रहा है।

हरियाणा पुलिस ने तत्काल ऐक्शन लेते हुए तजिंदर पाल बग्गा को ले जा रहे काफिले को कुरुक्षेत्र में रोक लिया था। इसके बाद तुरंत दिल्ली पुलिस की टीम रवाना हुई और कुरुक्षेत्र के थानेसर पहुंची। इसके बाद उसने पंजाब पुलिस की गिरफ्त से तजिंदर पाल बग्गा को निकाला और अपने साथ लेकर लौट रही है। हालांकि इससे पहले जमकर ड्रामा हुआ। एक तरफ हरियाणा पुलिस ने पंजाब की टीम को रोक लिया तो वहीं पंजाब के साहिबजादा अजीत सिंह नगर के एसएसएपी ने कुरुक्षेत्र के एसएसपी को चिट्ठी लिखकर तुरंत काफिले को आगे बढ़ने देने की मांग की।

एसएसपी ने कहा कुरुक्षेत्र पुलिस को लिखे पत्र में काफिले को रोके जाने पर सवाल उठाया था और कार्रवाई को अवैध करार दिया था। मनप्रीत सिंह का कहना था कि हरियाणा पुलिस की कार्रवाई अवैध है और गलत तरीके से हिरासत में लेने जैसा है। उनका कहना था कि हरियाणा पुलिस ने इस मामले में क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम में बाधा डालने का काम किया है।

इससे पहले भाजपा ने पंजाब सरकार और अरविंद केजरीवाल पर सिखी के अपमान का आरोप लगाया। भाजपा ने कहा कि पंजाब में एक सिख नेता मुख्यमंत्री है, उसके बाद भी तजिंदर पाल बग्गा को बिना पगड़ी के ही पुलिस घर से उठा ले गई। भाजपा ने आम आदमी पार्टी पर हमला बोलते हुए कहा कि उनकी गिरफ्तारी पूरी तरह से अवैध है और अरविंद केजरीवाल बदले की कार्रवाई करने में जुटे हैं। भाजपा ने कहा, ‘केजरीवाल भाजपा के कार्यकर्ताओं को चुप कराना चाहते हैं, वे पंजाब की पुलिस का बेजा इस्तेमाल कर रहे हैं।’

error: Content is protected !!