Breaking News
.

जुआ-सट्टे की लत में पड़कर बन गया था कर्जदार, परेशान होकर कर लिया सुसाइड, भागने से दोस्तों ने रोका तो उनके ही घर में लगाई फांसी …

बिलासपुर । जांजगीर में रहने वाले युवक ने बिलासपुर में अपने दोस्त के घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। छात्र जुआ-सट्‌टे की लत में पड़कर कर्जदार बन गया था और तीन दिन से बिना बताए घर से गायब था। कर्जदारों के डर से वह महाराष्ट्र के गोंदिया जाने की फिराक में था। उसे दोस्तों ने रोक लिया और समझाइश देकर उसका टिकट कैंसिल कराने के लिए चले गए। वापस आने पर युवक की लाश फांसी के फंदे पर लटकती मिली। मामला सरकंडा थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के अनुसार जांजगीर के रानी बरछा में रहने वाले संस्कार राठौर पिता भानू प्रताप राठौर (20) कॉलेज में पढ़ाई करता था। उसके पिता भानूप्रताप जांजगीर नगर पालिका में कार्यालय सहायक हैं। वह बीते 17 दिसंबर से अपने घर से बिना बताए गायब था और सरकंडा के अशोकनगर में अपने दोस्त अखिल कुरैशी व राजीव बंजारे के रूम में था।

दरअसल, छात्र संस्कार जुआ-सट्‌टे की लत में पड़ गया था और कई लोगों से कर्ज लिया था। कर्जदार उसे परेशान करते थे। जिससे डर कर वह छिप रहा था। वह महाराष्ट्र के गोंदिया जाने के फिराक में था। उसके दोस्तों ने उसे समझाइश देकर रोक लिया और रविवार सुबह 11 बजे उसे कमरे में छोड़कर टिकट कैंसिल कराने के लिए रेलवे स्टेशन गए थे।

रविवार दोपहर 12 बजे दोनों दोस्त वापस रूम आए, तब अंदर से दरवाजा बंद था। पहले उन्होंने आवाज लगाई। अंदर से कोई आहट नहीं आने पर दरवाजा को धक्का देकर खोला, तब संस्कार फांसी के फंदे पर लटक रहा था। दोनों ने मिलकर आनन-फानन में उसे फंदे से नीचे उतारा। लेकिन, तब उसकी मौत हो चुकी थी। युवकों ने इस घटना की जानकारी पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया और परिजन को सूचना दी।

इस घटना की जानकारी मिलते ही परिजन भी पहुंच गए। उन्होंने पुलिस को बताया कि संस्कार 17 दिसंबर की सुबह रिश्तेदार के दशगात्र का शोक पत्र लेकर घर से निकला था। इसके बाद वह वापस नहीं आया और उससे संपर्क भी नहीं हो सका। इससे परेशान होकर उन्होंने जांजगीर के कोतवाली थाने में सूचना दी थी। जिस पर उसके लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस उसकी तलाश कर रही थी।

पुलिस की शुरूआती पूछताछ में पता चला है कि युवक जुआ और सट्टे में दांव लगाता था। इसके चलते वह कई लोगों से कर्ज भी लिया था। कर्ज बढ़ने के बाद वह परेशान था। उसने अपने पिता के खाते से भी 80 हजार रुपए निकाल लिया था। पुलिस उसके परिजन व मोबाइल की जांच कर मामले की जानकारी जुटा रही है।

error: Content is protected !!