Breaking News
.

हरियाणा पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स को मिली बड़ी कामयाबी, गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई गैंग के 5 गुर्गे गिरफ्तार …

हरियाणा। हरियाणा एसटीएफ (पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स) बहादुरगढ़ की टीम ने लॉरेंस बिश्नोई गैंग के 5 बदमाशों को बहादुरगढ़ बाईपास से गिरफ्तार किया है। पांचों बदमाश चोरी की इनोवा और स्कॉर्पियो गाड़ियों में सवार होकर दिल्ली से हरियाणा में प्रवेश करना चाहते थे।

बदमाश गैंग के लिए नशे के सामान की डिलीवरी करना, हथियार उपलब्ध करवाना और लग्जरी गाड़ियों की चोरी का वारदात को अंजाम देने के लिए कई सालों से काम कर रहे थे। बदमाशों की पहचान भिवानी निवासी चिराग, मनोज बक्करवाला, राजस्थान के बाड़मेर निवासी प्रकाश बाड़मेर, अमित निवासी और संजय के रूप में हुई है।

एसटीएफ के एसपी सुमित कुमार ने बताया कि पांचों बदमाश लॉरेंस बिश्नोई गैंग के सक्रिय सदस्य हैं। बीते काफी सालों से वारदात के लिए हथियार उपलब्ध करवाना, लग्जरी गाड़ियां को चोरी करना और दो-तीन राज्यों में नशे की सप्लाई काम काम करते हैं। इसके अलावा कारोबारियों, दुकानदारों सहित अन्य से गिरोह के लिए अवैध वसूली करते हैं। उपरोक्त बदमाशों को एसटीएफ बहादुरगढ़ इंचार्ज इंस्पेक्टर विवेक मलिक की टीम ने सोमवार को एक गुप्त सूचना पर काम करते हुए बहादुरगढ़ बाईपास क्षेत्र से गिरफ्तार किया है।

एसपी सुमित कुमार ने बताया कि बिश्नोई का साथी बदमाश टीनू भिवानी जो पंजाब में सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल है। टीनू के साथियों ने मिलकर भिवानी के बहल झुप्पा, सिवनी इलाकों में दूसरे लोगों के नाम से शराब के ठेके भी लिए हुए हैं। टीनू का छोटा भाई चिराग उर्फ कालू उन धंधों को संभालता है। इस पूरे क्षेत्र में चरस एवं चिट्टा की सप्लाई एवं बिक्री का गोरखधंधा भी चिराग ही संभालता है। राजस्थान में शराब की अवैध तरीके से सप्लाई में भी ये लोग शामिल हैं।

एसटीएफ एसपी सुमित कुमार ने बताया कि मनोज बक्करवाला से शुरुआती पूछताछ में सामने आया है कि बिश्नोई गैंग के लिए हथियार और नशा उपलब्ध करवाने के अलावा वह लग्जरी गाड़ियां चोरी करने का आदतन अपराधी भी रह चुका है। देश के विभिन्न राज्यों से सैकड़ों लग्जरी गाड़ियां चुरा चुका है। वह कई बार गिरफ्तार भी हो चुका है और पुलिस को चकमा देकर फरार भी हो चुका है।

उसके खिलाफ दिल्ली, हरियाणा, यूपी एवं पंजाब समेत अन्य जगहों पर दर्जनों मामले दर्ज हैं। मनोज अब तक करीब 10 साल तक जेल की हवा भी खा चुका है। जब वह गिरोहबंदी के एक मामले में लुधियाना जेल में बंद था, तो वहीं पर जेल में बंद बिश्नोई गिरोह के बदमाश टीनू भिवानी से उसकी दोस्ती हुई थी।

error: Content is protected !!