Breaking News
.

गाइडलाइन जारी : मौसम को लेकर यूपी सरकार का अलर्ट, बरसात और वज्रपात से कैसे निपटें …

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मैनपुरी सहित प्रदेश के सभी किसानों, ग्रामीणों को आसमानी बज्रपात से बचाने के दिशा-निर्देश जारी किए हैं। अगले कुछ दिनों में बारिश शुरू होगी। बारिश आएगी तो आसमान में काली घटाएं डेरा जमाएंगी। आसमानी बिजली भी चमकेगी, यह बिजली इंसानों के लिए भी खतरा पैदा कर देती है। सरकार ने आसमानी बिजली से बचने के लिए अलर्ट जारी किया है। बरसात के दौरान बज्रपात से निपटने की गाइड लाइन जारी की गई हैं। कहा गया है कि मौसम बिगड़े तो तत्काल सुरक्षित स्थान पर चले जाएं।

हर साल भारी बारिश और आसमानी बिजली लोगों के सामने जान का संकट खड़ा करती है। मैनपुरी जनपद में ही पिछले तीन वर्षों में आसमानी बिजली की चपेट में आकर 14 लोगों की जान गई। पिछले वर्ष भी चार लोगों की मौत आसमानी बिजली की चपेट में आकर हुई थी। जानवर भी बिजली की चपेट में आकर मरे। इस साल ऐसा न हो इसके लिए यदि मौसम बिगड़े तो तत्काल सुरक्षित स्थान पर जाना होगा। अन्यथा जान का खतरा पैदा हो जाएगा।

जनपद में सूर्यदेव की तपिश और तल्ख हो गई। दो डिग्री सेल्सियस तापमान और बढ़ गया। सुबह से लेकर शाम तक तेज धूप से बदन झुलसता रहा। हवाएं भी नहीं चल रही थी। जिससे लोग पसीने में भीगे रहे। पूरे दिन लोगों को भीषण गर्मी का सामना करना पड़ा। शहर और कस्बा के बाजारों में भी भीषण गर्मी का असर दिखा। दोपहर के समय लोगों की संख्या में कमी नजर आयी। तापमान अधिकतम 42 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 27 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जिले में पांच दिन गर्मी से राहत के बाद मौसम फिर से तल्ख होने लगा है। बुधवार के बाद गुरुवार को मौसम और तल्ख हुआ। सुबह 10 बजे के बाद ही आसमान से आग बरसने लगी। दस बजे ही दोपहर जैसा माहौल हो गया।

खेतों में मूंगफली की खुदाई, धान की नर्सरी की बुवाई, रोपाई आदि का कार्य कर रहे किसानों को गर्मी से चलते परेशानी हुई। सूर्यदेव की तपिश के चलते काम रोकना पड़ा। किसानों ने 10 बजे से पहले ही काम बंद कर दिया। उधर शाम को 5 बजे के बाद काम शुरू हो सका। शहर और कस्बा के बाजारों में दोपहर के समय सन्नाटे जैसा आलम बना रहा। दोपहर 12 बजे से 2 बजे तक सड़कों पर लोगों की संख्या काफी कम दिखी। व्यस्ततम बाजार में दुकानों पर खरीदारी भी न के बराबर हुई।

error: Content is protected !!