Breaking News
.

गौतम गंभीर ने रिकी पॉन्टिंग को दी डगआउट तक सीमित रहने की सलाह…

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग का दूसरा चरण यूएई में जारी है। मंगलवार को 41वें मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स ने दिल्ली कैपिटल्स को मात दी। इस मैच के दौरान हुए रविचंद्रन अश्विन और इयोन मॉर्गन के विवाद ने काफी सुर्खियां बटोरीं। इसी विवाद के दौरान कमेंट्री कर रहे गौतम गंभीर ने जहां दिल्ली कैपिटल्स के कोच रिकी पॉन्टिंग को कड़े लहजे में सलाह दी। साथ ही उन्होंने मॉर्गन को भी एक बात को लेकर जमकर लताड़ा।

 

दरअसल इयोन मॉर्गन को आईपीएल के दौरान कई बार डगआउट से कोड्स लेते (इशारों-इशारों में सलाह लेते) नजर आते हैं। यही चीज दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ भी देखी गई जब मॉर्गन ने टीम के एनालिस्ट नाथन लिएमन (Nathan Leamon) से कोड्स लेते नजर आए।

 

इसे लेकर गौतम गंभीर से उनके साथी कमेंटेटर आकाश चोपड़ा ने सवाल किया कि आप इस पर क्या सोचते हैं। जिसका जवाब देते हुए गौतम गंभीर ने कड़े लफ्जों में कहा कि जब मैं कप्तान था अगर उस वक्त ऐसी चीजें होती तो मैं तुरंत अपनी कप्तानी से इस्तीफा दे देता।

 

 

आपको बता दें मंगलवार को दिल्ली कैपिटल्स और केकेआर के बीच हुए मुकाबले में पहली पारी के आखिरी ओवर के दौरान रविचंद्रन अश्विन और टिम साउदी के बीच कुछ बहसबाजी हुई। वहीं जब भारतीय स्पिनर आउट होकर पवेलियन की ओर जाने लगे तो केकेआर के कप्तान इयोन मॉर्गन ने कुछ छींटाकशी की जिसके बाद अश्विन गुस्से में मॉर्गन की ओर बढ़ने लगे। फिर केकेआर के विकेटकीपर दिनेश कार्तिक ने बीच-बचाव किया।

 

इसी वाकिये के दौरान कमेंट्री कर रहे थे पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर। जिस वक्त मैदान पर अश्विन, साउदी और मॉर्गन के बीच ये वाकिया हुआ उस वक्त दिल्ली कैपिटल्स के कोच रिकी पॉन्टिंग काफी नाराज दिखे और वे डगआउट से उठकर मैदान की ओर जाने लगे।

 

वहीं मैच के बाद पॉन्टिंग और सहायक कोच मोहम्मद कैफ अंपायर से इसी मुद्दे पर चर्चा कर रहे थे। दिल्ली के कोचिंग स्टाफ का ये कदम गौतम गंभीर को बिल्कुल पसंद नहीं आया।

 

उन्होंने रिकी पॉन्टिंग को कड़े लहजे में सलाहा देते हुए कहा कि,कोच को कोच की तरह ही रहना चाहिए ना कि मैदान पर उतरकर हर एक बात में अपनी टांग लगानी चाहिए। आप कोच हैं और आपकी सीमा डगआउट तक ही होनी चाहिए। यह मामला दो खिलाड़ियों के बीच है और यहां कोचिंग स्टाफ का कोई काम नहीं। अगर कोई इस मामले में फैसला कर सकता है तो वो मैच रेफरी और फील्ड अंपायर हैं। कोच को कभी भी इस मामले में मैदान पर नहीं आना चाहिए।

 

गौरतलब है कि मैच के बाद केकेआर के विकेटकीपर दिनेश कार्तिक ने भी बताया था कि दोनों खिलाड़ी किस बात को लेकर भिड़े थे। वहीं दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान ऋषभ पंत ने भी इस मामले पर अपना बयान दिया था।

error: Content is protected !!