Breaking News
.

पूर्व कानून मंत्री सलमान खुर्शीद ने हिंदुत्व को बताया ISIS जैसा, एडवोकेट ने पुलिस में शिकायत ….

नई दिल्ली । पूर्व कानून मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद की एक किताब ने सियासी बवाल खड़ा कर दिया है। खुर्शीद ने यह किताब अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर लिखी है। खुर्शीद ने अपनी किताब में एक तरफ अयोध्या पर फैसले को सही ठहराते हुए इस मुद्दे से आगे बढ़ने की सलाह दी है तो दूसरी तरफ उन्होंने इसमें हिंदुत्व की तुलना आईएसआईएस और बोको हरम जैसे आतंकी संगठनों से कर दी है। इस तुलना से विवाद इतना गहरा गया है कि किताब बुधवार देर शाम ही लॉन्च हुई और 24 घंटे से भी कम समय में खुर्शीद के खिलाफ दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज हो गई है।

यह शिकायत विवेक गर्ग नाम के वकील ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से की है और केस दर्ज करने की अपील की है। खुर्शीद पर हिंदुत्व को बदनाम करने का आरोप लगाया गया है।

किताब में सलमान खुर्शीद ने कहा है कि ‘हिंदुत्व का इस्तेमाल राजनीतिक फायदे के लिए होता है, चुनाव प्रचार के दौरान इसका ज्यादा जिक्र किया जाता है।’ किताब में उन्होंने कहा कि ‘सनातन धर्म या क्लासिकल हिंदुइज्म को किनारे करके हिंदुत्व को आगे बढ़ाया जा रहा है।’ किताब में हिंदुत्व की तुलना आईएसआईएस और बोको हरम जैसे आतंकी संगठनों से करते हुए सलमान खुर्शीद ने कहा कि हिंदुत्व साधु-सन्तों के सनातन और प्राचीन हिंदू धर्म को किनारे लगा रहा है, जो कि हर तरीके से आईएसआईएस और बोको हरम जैसे जिहादी इस्लामी संगठनों जैसा है।

किताब में देश में हिंदुत्ववादी राजनीति के प्रभाव की चर्चा करते हुए सलमान खुर्शीद लिखते हैं, “मेरी अपनी पार्टी, कांग्रेस में, चर्चा अक्सर इस मुद्दे की तरफ मुड़ जाती है। कांग्रेस में एक ऐसा तबका है, जिन्हें इस बात पर पछतावा है कि हमारी छवि अल्पसंख्यक समर्थक पार्टी की है। यह तबका हमारी लीडरशीप की जनेऊधारी पहचान की वकालत करता है। इन्होंने अयोध्या पर आए फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए यह घोषणा कर दी कि अब इस स्थल पर भव्य मंदिर बनाया जाना चाहिए। इस रुख ने निश्चित तौर पर सर्वोच्च न्यायलय की ओर से दिए गए आदेश के उस हिस्से की अनदेखी की, जिसमें मस्जिद के लिए भी जमीन देने का निर्देश दिया गया था।”

सलमान खुर्शीद की किताब को लेकर बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कहा, हिंदुत्व की तुलना आतंकी संगठन ISIS और बोको हराम से कर दी जाती है। यह आज कांग्रेस पार्टी की विचारधारा है। यह सोनिया गांधी और राहुल गांधी के इशारे पर बार-बार होता है। वहीं, बीजेपी नेता और मध्य प्रदेश के मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, ‘सलमान खुर्शीद ने यह किताब विवाद खड़ा करने के लिए ही छापी होगी। वे तुष्टीकरण की राजनीति का समर्थन करते हैं। कांग्रेस नेता और गांधई परिवार टुकड़े-टुकड़े गैंग के समर्थक हैं। वे देश को जाति के आधार पर बांटना चाहते हैं।’

error: Content is protected !!