Breaking News
.

भाजपा के पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने किसानों को बताया नक्सली, कांग्रेस हुई हमलावर, कहा- किसानों से माफ़ी मांगे बृजमोहन …

रायपुर । पूर्व कृषि मंत्री बृजमोहन ने भारत बंद के बाद बयान में कहा था कि किसान आंदोलन को नक्सलियों का समर्थन है और दूसरा कांग्रेसियों का समर्थन है, इसी से समझिए क्या हो रहा है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री नक्सलवाद समाप्त करने की बैठक में नहीं जाते, चर्चा से भाग रहे हैं और नक्सलियों ने जिस आंदोलन को समर्थन दिया है, उसको समर्थन कर रहे हैं। किसान आंदोलन सिर्फ कुछ लोगों की जिद का परिणाम है। आम किसान को इससे लेना देना नहीं।

प्रदेश भाजपा के पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने किसान आंदोलन को नक्सलियों से जोड़ा तो कांग्रेस को काफी नागवार गुजरा। यही कारण है कि अब इस मुद्दे को लेकर राज्य की सत्ताधारी पार्टी बृजमोहन पर हमलावर है।

इधर प्रदेश के पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल द्वार किसानों को नक्सली कहे जाने को लेकर कांग्रेस ने कड़ी आपत्ति जताई है। प्रदेश कांग्रेस के मुख्यप्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि बृजमोहन अग्रवाल छत्तीसगढ़ सहित देश किसानों से माफी मांगे। बृजमोहन ने छत्तीसगढ़ के किसानों के साथ देशभर के अन्नदाता किसानों को अपमानित किया है। पहले आतंकी, खालिस्तानी, मवाली कहने के बाद अब नक्सली बताकर भाजपा नेता ने अपने दल के फासीवादी असहिष्णु चरित्र को उजागर किया है।

भाजपा के केंद्र सरकार ने 3 काले कानून लाए, जो किसान विरोधी है। देश भर के किसान आंदोलनरत है। अब दिल्ली बॉर्डर से यह आंदोलन देश भर में फैल रहा है। भाजपा अपनी जमीन खिसकती देखकर परेशान है इसलिए किसानों के खिलाफ भाजपा अनर्गल बातें कर रही है। इस देश के किसानों को भाजपा ने कभी आतंकी कहा, कभी खालिस्तानी कहा, कभी माओवादी कहा। हद तो तब हो गई जब भाजपा नेता ने किसानों को नक्सली कह डाला।

भाजपा जिस प्रकार से किसानों का अपमान कर रही है और किसानों के समर्थन में आने के कारण कांग्रेस को कोस रही है किसान हितकारी नीतियों के कारण भूपेश बघेल जी का विरोध कर रही है। वह भाजपा की बौखलाहट को दिखाती है। किसानों के विरोध के कारण जनता भाजपा को इस बार केंद्र से भी उखाड़ फेकेगी। पूरे देश में भाजपा कहीं देखने को नहीं मिलेगी।

error: Content is protected !!