Breaking News
.

सरकार से सब्सिडी पर मिले धान के बीज में किसानों से धोखा, खेत में बोने पर अंकुरण नहीं …

नई दिल्ली। कृषि विभाग ने रामपुर प्रखंड के किसानों के सब्सिडी बीज बांटा था। जब किसानों ने इस बीज की नर्सरी तैयार करने के लिए बोया तो बीज अंकुरित नहीं हुआ। इस तरह की शिकायत खजूरा के किसान गोवर्धन सिंह व धवपोखर के उमेश पाठक प्रखंड कृषि समन्वयक प्रवीण सिंह से की। इसकी जांच के लिए वह दोनों किसानों के खेत पर गए। जांच की तो उन्होंने किसानों की शिकायत सही पाई।  उक्त किसानों ने प्रखंड कृषि समन्वयक को जानकारी दी कि छह दिन पहले बीज बोए गए थे लेकिन अभी तक अंकुर नहीं हुआ। जबकि इसी के साथ दूसरी प्रजाति के धान के बीज बोने पर अंकुर हो गए हैं।

हालांकि अभी तो दो किसानों ने ही इस तरह की शिकायत की है। सब्सिडी लेने वाले अन्य किसानों के बीज की स्थिति क्या है के बारे में जानकारी नहीं मिल सकी है। हालांकि इस तरह की शिकायत से किसान चिंतित हैं। किसानों का कहना है कि अब उन्हें दूसरा बीज डालना पड़ेगा। इससे खेती पिछड़ जाएगी। किसानों ने कहा कि हमलोग रोहिणी नक्षत्र में इसीलिए बीज बोते थे कि समय पर तैयार हो जाने से धान की रोपनी कर दी जाएगी। लेकिन, ऐसा होता नहीं दिख रहा है। कृषि विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री तीव्र विस्तार योजना के तहत बिहार राज्य बीज निगम से 34 क्विंटल स्वर्णा सबवन धान बीज मिला है। अब तक 100 किसानों के बीच 90 फीसदी अनुदान पर बीज का वितरण किया गया है।

आवंटित बीज से अभी करीब 475 किसानों को बीज दिया जाएगा। एक किसान को छह किलो बीज दिया जा रहा है। बीज वितरण करनेवाले कर्मी ने बताया कि किसानों में बांटने के लिए बिहार राज्य बीज निगम द्वारा प्रमाणित बीज मिला है। पता नहीं किसान कैसे बीज नहीं अंकुरित होने की शिकायत कर रहे हैं। अधौरा के बीएओ मोहन प्रसाद द्विज रामपुर प्रखंड के प्रभार में हैं। उनका पक्ष जानने के लिए मंगलवार व बुधवार को कॉल की गई। लेकिन नंबर ऑफ मिला।

रामपुर प्रखंड कृषि समन्वयक अनिल गुप्ता ने बताया कि अगर कोई किसान सब्सिडी वाले धान के बीज के नहीं अंकुरने की लिखित शिकायत करते हैं, तो उसकी जांच कर वरीय अधिकारी को रिपोर्ट भेजी जाएगी। वहां से जैसा निर्देश मिलेगा, वैसी आगे की कार्रवाई होगी।

error: Content is protected !!