Breaking News
.

भाजपा से हो रहा ब्राम्हणों का पलायन : मंत्री धर्मपाल सैनी समेत आज 6 विधायकों ने छोड़ी पार्टी, अब तक 12 विधायक टूटे …

लखनऊ। विधानसभा चुनाव का बिगुल बजते ही उत्तर प्रदेश की सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) में भगदड़ सी मच गई है। अब तक कुल 11 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है। इनमें स्वामी प्रसाद मौर्य जैसे मंत्री भी शामिल हैं, जिन्होंने कल भगवा पार्टी पर ओबीसी और दलितों को नजरअंदाज करने का आरोप लगाते हुए इस्तीफा दे दिया था। आपको बता दें कि यह सिलसिला आज भी जारी रहा। बीजेपी के 6 विधायकों ने गुरुवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया।

आज इस्तीफा देने वाले विधायकों में विनय शाक्य, मुकेश वर्मा और सीताराम वर्मा का नाम शामिल है। वहीं योगी सरकार में मंत्री रहे धर्मपाल सिंह सैनी ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक, बाला प्रसाद अवस्थी और राम फेरन पांडे ने भी बीजेपी से इस्तीफा दे दिया है। इन सभी को मिलाकर अकेले गुरुवार को ही 6 विधायक पार्टी से इस्तीफा दे चुके हैं।

आपको बता दें कि योगी सरकार के मंत्री धर्मपाल सिंह सैनी ने सरकारी आवास और सुरक्षा लौटा दी है। माना जा रहा है कि किसी भी वक्त अखिलेश यादव से मुलाकात कर समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते हैं। वहीं, आज ही सुबह शिकोहाबाद के विधायक मुकेश वर्मा ने भी भगवा पार्टी का दामन छोड़ दिया। उनके भी सपा जॉइन करने की संभावना है।

यूपी चुनाव से पहले बिधूना विधायक विनय शाक्य ने भी बीजेपी से दिया इस्तीफा। विनय शाक्य पिछले तीन दिनों में भाजपा से इस्तीफा देने वाले यूपी के आठवें विधायक थे। शाक्य ने पार्टी को अपने त्याग पत्र में लिखा, “स्वामी प्रसाद मौर्य दलितों की आवाज हैं और वह हमारे नेता हैं। मैं उनके साथ हूं।”

आरएलडी के एक नेता ने दावा किया है कि भाजपा के दो विधायक बाला अवस्थी और रामफेरन पांडे समाजवादी पार्टी का दामन थामने वाले हैं। उन्हें कू करते हुए लिखा है कि बीजेपी से पिछड़े और ब्राह्मणों का पलायन जारी है।

403 सदस्यीय उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए सात चरणों में मतदान होगे। यूपी में 10, 14, 20, 23, 27 फरवरी के अलावा 3 और 7 मार्च को मतदान होगा। पंजाब, उत्तराखंड और गोवा में 14 फरवरी को और मणिपुर में दो चरणों में 27 फरवरी और 6 मार्च को मतदान होगा। मतों की गिनती 10 मार्च को होगी।

error: Content is protected !!