Breaking News
.

दिल्ली में हर दिन तीन सौ टन अधिक कचरे का लग रहा ढेर, एक साल की तुलना में बढ़ता चला गया कूड़े का अंबार …

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में तीन बड़े कूड़े के पहाड़ पहले ही परेशानी का सबब बने हुए हैं। यहां मौजूद कचरे का निस्तारण कर इसे खत्म करने की कवायद चल रही है। वहीं, सालभर के भीतर दिल्ली के लोग पहले की तुलना में हर दिन 317 टन अधिक कचरा पैदा करने लगे हैं। दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति की रिपोर्ट ने इसका खुलासा किया है।

डीपीसीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, अप्रैल 2021 में दिल्ली में हर दिन दस हजार 978 टन कचरा निकलता था, जबकि अप्रैल 2022 में यह बढ़कर 11 हजार 295 टन हो गया है। यानी पहले की तुलना में अब दिल्ली के लोग हर दिन 317 टन अधिक कचरा पैदा कर रहे हैं। यानी पिछले साल के मुकाबले दिल्लीवासी हर साल एक लाख 15 हजार 705 टन कचरा ज्यादा पैदा कर रहे हैं। कचरे के ढेर ने परेशानियां भी पैदा की हैं। दिल्ली में पहले ही तीन जगहों पर कचरे के ऊंचे-ऊंचे पहाड़ हैं। अब कचरे की बढ़ती तादाद के चलते इसका निस्तारण और मुश्किल साबित हो रहा है।

दिल्ली के निगम क्षेत्रों में आमतौर पर सूखे और गीले कचरे को अलग-अलग एकत्र करने में परेशानी हो रही है। अधिकतर जगहों पर मिश्रित कचरा एकत्रित हो रहा है। जबकि, एनडीएमसी क्षेत्र में कचरे को सूखा, गीला और घातक श्रेणी में एकत्रित किया जाता है।

error: Content is protected !!