Breaking News
.

राज्य शिक्षक सम्मान स्मृति पुरस्कार के लिए 10 अगस्त तक प्रविष्टियां आमंत्रित ….

रायपुर। राज्य शासन द्वारा छत्तीसगढ़ में स्कूल शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों को सम्मानित करने के उद्देश्य से डॉ. पदुमलाल बख्शी, गजानन माधव मुक्तिबोध, डॉ. मुकुटधर पाण्डेय और बलदेव प्रसाद मिश्र की स्मृति में राज्य शिक्षक सम्मान स्मृति पुरस्कार वर्ष 2020-21 के लिए शिक्षकों से 10 अगस्त तक निर्धारित प्रारूप में प्रविष्टियां आमंत्रित की गई है।

चयन समिति की अनुशंसा को शासन द्वारा घोषित 4 शिक्षकों पर 50-50 हजार रूपए नगद और प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया जाएगा। शासकीय और मान्यता प्राप्त विद्यालयों के शिक्षक व शिक्षिकाएं पुरस्कार के लिए आवेदन कर सकते हैं। प्रविष्टि लिफाफे पर ‘राज्य शिक्षक सम्मान स्मृति पुरस्कार’ 2020-21 लिखकर संबंधित जिले के जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) कार्यालय में 10 अगस्त तक जमा कर सकते हैं।

राज्य शिक्षक सम्मान स्मृति पुरस्कार के लिए आवेदन करने वाले की आयु 31 दिसम्बर 2020 को 45 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए। आवेदक को छत्तीसगढ़ के किसी मान्यता प्राप्त विद्यालयों में अध्यापन कार्य का कम से कम 15 वर्ष का अनुभव होना अनिवार्य है, इसके लिए अध्यापन का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा। महाविद्यालय और विश्वविद्यालय के शिक्षक इन पुरस्कारों के लिए आवेदन नहीं कर सकते। राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एस.सी.ई.आर.टी.), शिक्षा महाविद्यालय, डाईट और बुनियादी प्रशिक्षण संस्थाओं में कार्यरत शिक्षक अथवा डाईट अभ्यास शालाओं में कार्यरत शिक्षकों के आवेदन मान्य नहीं होंगे।

31 दिसम्बर 2020 के पहले सेवा निवृत्त शिक्षकों का आवेदन पुरस्कार के लिए मान्य नहीं होगा। चयन होने की दिशा में पुरस्कार ग्रहण करने के संबंध में आवेदन की लिखित सहमति अनिवार्य है। किसी भी शिक्षक का इन चारों पुरस्कारों में से मात्र एक पुरस्कार के लिए ही चयन किया जाएगा। आवश्यकता होने पर चयन के लिए प्रस्तावित शिक्षकों का साक्षात्कार लिया जाएगा। आवेदक को शपथ पत्र देना होगा कि उसके विरूद्ध विभागीय जांच, अपराधिक मामला आदि पंजीबद्ध नहीं हो और उसे दंडित नहीं किया गया है। निर्णायक मंडल का निर्णय अंतिम होगा।

error: Content is protected !!