Breaking News
.

चुनाव की तैयारी शुरू : योगी सरकार ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन बांटने का किया ऐलान…

लखनऊ। उत्तरप्रदेश में आने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी राजनीतिक पार्टियों ने शुरू कर दी है। इसी बीच मंगलवार को यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ 1,23,000 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन बांटने का ऐलान कर दिया है। इसके अलावा आंगनवाड़ी केंद्र को इन्फैंटोमीटर भी दिए जाएंगे। ये जानकारी प्रदेश सरकार की ओर से मिली है।

 

चुनाव से पहले आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को एक लाख से ज्यादा स्मार्टफोन देना एक बड़ा फैसला माना जा रहा है क्योंकि इससे वोट बैंक पर काफी असर पड़ेगा। ये पहली बार नहीं है, जब सरकार ने जनता में इस तरह के गैजेट्स बांटकर वोट बैंक बनाने की कोशिश की हो, इससे पहले साल 2012 के चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी ने भी छात्रों को लैपटॉप बांटने की घोषणा की थी। आज भी समाजवादी नेता अपनी सरकार के इस फैसले का जिक्र टीवी डिबेट्स में करते नजर आते हैं।

 

यूपी में 1.89 लाख आंगनवाड़ी केंद्र हैं, जिसमें करीब 4 लाख सक्रिय कार्यकर्ता हैं। ऐसे में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन मिलने से काफी सुविधा होगी। योगी सरकार का मानना है कि इससे महिला एवं बाल योजनाओं से जुड़ा डाटा सरकार के पास पहुंचता रहेगा और महिलाओं-बच्चों से जुड़े मुद्दे हल किए जा सकेंगे।

 

साल 2012 के विधानसभा चुनाव में समाजवादी सरकार ने 12वीं पास करने वाले छात्रों को फ्री लैपटॉप देने की घोषणा की थी। इसके बाद पार्टी ने इस चुनाव में जीत हासिल की और बाद में ये माना गया कि लैपटॉप की घोषणा करना सपा के लिए इस चुनाव में जीत का एक अहम फैक्टर साबित हुआ।

 

सपा सरकार ने पहली किस्त में 10 हजार छात्र-छात्राओं को लैपटॉप बांटे थे और लैपटॉप का ठेका अमेरिकन कंपनी एचपी को दिया गया था। सीएम बनते ही अखिलेश यादव ने लैपटॉप के बैग पर ‘पूरे होते वादे’ लिखवाकर बंटवाना शुरू कर दिया था। हालांकि बाद में ये समस्या भी सामने आई थी कि इतनी भारी संख्या में पास हुए छात्रों को लैपटॉप कैसे दिया जाए।

error: Content is protected !!