Breaking News
.

फुल परफार्मेंस में ED, पेश हुए कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, यंग इंडिया ऑफिस में फिर से छापेमारी शुरू …

नई दिल्ली। मोदी सरकार से खुली छूट मिलने के बा ईडी फुल परफार्मेंस दिखा रही है। वहीं नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस की फजीहत करने का कोई मौका ईडी नहीं चूक रही है। गुरुवार को कांग्रेस पार्टी के सीनियर नेता मल्लिकार्जुन खड़गे हेराल्ड हाउस में ही ईडी अधिकारियों के सामने खुद को पेश किया। इसी के साथ कांग्रेस के स्वामित्व वाले अखबार नेशनल हेराल्ड की होल्डिंग कंपनी यंग इंडियन (वाईआई) के ऑफिस में ईडी ने फिर से छापेमारी शुरू कर दी है।

राज्यसभा में विपक्ष के नेता 80 वर्षीय खड़गे दोपहर करीब 12.40 बजे आईटीओ के पास बहादुर शाह जफर मार्ग स्थिति हेराल्ड भवन पहुंचे और ईडी के अधिकारियों से मिले। कंपनी के प्रमुख अधिकारी होने के नाते ईडी ने यंग इंडियन के ऑफिस पर छापेमारी के दौरान उनकी उपस्थिति की मांग की थी। बता दें कि यंग इंडियन के शेयरधारकों में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी का नाम भी शामिल है। कांग्रेस अध्यक्ष के पास कंपनी की 38 फीसदी हिस्सेदारी है।

इससे पहले ईडी ने बुधवार चार मंजिला हेराल्ड हाउस के एक हिस्से को सील कर दिया था। ईडी ने सील किए जाने के पीछे सबूत को संरक्षित करने की बात कही थी। ईडी का कहना था कि हिस्से में ताला लगे होने की वजह से वह उसकी तलाशी नहीं ले पाया था, साथ में तलाशी के दौरान कोई अधितृक प्रतिनिधि भी उपलब्ध नहीं था। ईडी के अधिकारियों का कहना है कि यंग इंडिया ऑफिस की तलाशी अब रोक दी जाएगी और जो भी संभावित सबूत उपलब्ध होंगे, उन्हें इकट्ठा किया जाएगा।

बता दें कि नेशनल हेराल्ड अखबार और वेब पोर्टल का कार्यालय हेराल्ड हाउस भवन की चौथी मंजिल पर स्थित है, जहां संपादकीय विभाग के और प्रशासनिक विभाग के कर्मचारी काम करते हैं। नेशनल हेराल्ड अखबार एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (AJL) द्वारा प्रकाशित किया जाता है और इसकी होल्डिंग कंपनी यंग इंडियन है। अखबार का कार्यालय एजेएल के नाम से पंजीकृत है।

ईडी ने नेशनल हेराल्ड-एजेएल-यंग इंडियन सौदे में चल रही मनी लॉन्ड्रिंग जांच के तहत मंगलवार को हेराल्ड हाउस सहित एक दर्जन स्थानों पर छापेमारी की थी। एजेंसी के अधिकारी बुधवार की तड़के कुछ दस्तावेज, डिजिटल डेटा इकट्ठा करने और कुछ कर्मचारियों से पूछताछ करने के बाद परिसर से निकल गए थे। ईडी के समझ पेश होने से पहले खड़के ने राज्यसभा में सवाल पूछते हुए कहा कि क्या चल रहे संसद सत्र के बीच में मुझे तलब करना उचित है। इसके बाद खड़के नेशनल हेराल्ड भवन के लिए रवाना हुए।

error: Content is protected !!